होली के मौके पर बाजारों में चढ़ा सियासी रंग

0
219

यमुनानगर: होली के दिल खिल जाते है रंगों से रंग मिल जाते है। जी हां, होली से एक दिन पहले आज बाज़ारो में होली की धूम नज़र आ रही है। नए नए तरह के मास्क, पिचकारियां, गुलाल, फूलों के गुलाल बाजार में सजे है। सिर्फ इतना ही नहीं लोकसभा चुनावों को देखते हुए इस बार की होली पर चुनावी रंग भी खूब देखने को मिल रहे हैं। इस बार बाजारों में पीएम मोदी के स्टीकर वाली पिचकारियों की इतनी डिमांड है कि अब दुकानदारों के पास उसका स्टॉक ही नहीं बचा है।

बता दें कि होली बसन्त ऋतु में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह पर्व हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। रंगों का त्यौहार कहा जाने वाला यह पर्व दो दिन मनाया जाता है। पहले दिन होलिका जलायी जाती है, जिसे होलिका दहन भी कहते हैं। तो वहीं दूसरे दिन, जिसे प्रमुखतः धुलेंडी होली कहते है।

बाजारों में दिखी रौनक

होली के मौके पर पूरा यमुनानगर रंगमय हो रहा है। हालांकि, होली से एक दिन पहले बाजारों में ज्यादा लोग नजर नहीं रहे थे लेकिन आज बाजारों में पूरी तरह से रौनक देखने को मिल रही है। दुकानदारों का कहना है कि कल तक बाजार बिल्कुल ही मंदा था लेकिन आज बाजार में कुछ रौनक देखने को जरूर मिल रही है। उनका कहना है कि होली के मौके पर हर साल कुछ ना कुछ नई वैरायटी बाजार में आती है इस बार गुलाल के पटाखे आए हैं। इन पटाखों में आग लगाने के बाद तरह तरह के रंग निकलेंगे और फुलझड़ी अनार और एक नई आइटम माचिस आई है। जिसको आग लगाने से उसमें से रंग निकलते हैं।

वहीं अगर पिचकारी की बात करें तो पिचकारी में टैंक वाली पिचकारी ज्यादा लोग पसंद कर रहे हैं और इस बार चाइना का सामान बाजार में बिल्कुल भी नजर नहीं आ रहा क्योंकि लोग पहले चाइनीस आइटम पसंद करते थे और इस बार सिर्फ इंडियन पिचकारी बाजार में बिक रही है। इस बार की होली पर चुनावी रंग भी पूरी तरह से चढ़ा हुआ नजर आ रहा है। इस बार बाजार में हर्बल गुलाल आए हैं और चाइना का कोई भी आइटम बाजार में नहीं बिक रहा है। बड़ी-बड़ी पिचकारी आ बाजार में उपलब्ध हैं जो कि सब इंडियन है बाजार में भी किसी प्रकार का कोई शोर शराबा भी नहीं है।  बाजार में मोदी वाली पिचकारी पर ज्यादा डिमांड में थी जिसका स्टॉक खत्म हो गया  है।  

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here