इनेलो और कांग्रस को लगा झटका, दो पूर्व विधायकों ने थामा भाजपा का दामन

0
170

चंडीगढ़: जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक रहे हैं वैसे-वैसे नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला भी लगातार बढ़ता जा रहा है। इनेलो के दो मौजूदा और दो पूर्व विधायक पहले ही भाजपा का दामन थाम चुके हैं लेकिन अब फिर से इनेलो और कांग्रेस के पूर्व विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया। चंडीगढ में बीजेपी कार्यालय में पूर्व विधायक हरिराम वाल्मीकि और राजेंद्र बीसला ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने दोनों पूर्व विधायकों को पार्टी में शामिल कराया। इस दौरान सुभाष बराला ने कहा कि लोकसभा चुनाव में देश के सामने दो विचारधारा हैं। जिसमें एक विचारधारा के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, जो गरीब कल्याण वाली सरकार, विकास के रास्ते पर मजबूती के आगे बढने वाली सरकार, देश की आंतरिक एवं बाहरी सुरक्ष पुख्ता करने वाली सरकार दे रहे हैं।

साल 1977 में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ से आजाद विधायक बने थे। जिसके वह कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़े और विधायक बने। इसके बाद उन्होंने इनेलो का दामन थामा और 2014 में पृथला से इनेलो की टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन यहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा। भाजपा में शामिल होने का बाद उन्होंने कहा कि अब वे इनेलो में चल रहे चौटाला परिवार के झगड़े से आहत है, इसलिए उन्होंने पीएम मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय पार्टी भाजपा ज्वाइन करने का फैसला लिया है।  

वहीं पूर्व विधायक हरिराम वाल्मीकि 2005 में कांग्रेस की टिकट पर झज्जर सीट से चुनाव जीते थे। उनके अनुसार इस सीट से कांग्रेस कई बरसों बाद उनके रूप में चुनाव जीती थी। उनके अनुसार इसके बाद उनका पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से मनमुटाव हो गया था। लिहाजा अब उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी है और अब वह भाजपा में शामिल हो गए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here