हर साल चैत्र माह में लगता है मेला, सुरक्षा व्यवस्था के किए गए पुख्ता इंतजाम

0
180

गुरुग्राम के प्रशिद्ध शीतला माता मंदिर में हर साल की तरह पवित्र और प्राचीन चैत्र मेले की शुरुआत हो चुकी है। इसकी शुरुआत के साथ ही देश के कोने-कोने से माता शीतला के भक्तों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है।  लगभग तीन महीने तक चलने वाले इस वाले मेले में दूर दराज से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की मान्यता है कि जो भी मंदिर में सच्ची श्रद्धा से आता है, माता शीतला उन्हें कभी निराश नहीं करती और उनकी मानी हुई हर मन्नत पूरी होती है। मंदिर प्रशासन की माने तो लगभग सवा लाख श्रद्धालु यहां रोजाना माँ के दर्शनों के लिए आते हैं। नवरात्रों के नौ दिन तक शीतला माता के दरबार में लोगों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। शीतला माता को नौ दुर्गों में सप्तकाल रात्रि माता के रूप में माना गया है।  बताया जाता है कि शीतला माता गुरु द्रोण की पत्नी और पांडव काल के कृपाचार्य की बहन कृपी है। माता कृपी ने पांडव काल में इसी स्थान पर भगवान शंकर की तपस्या की थी जिसके फल स्वरूप भगवान शंकर ने वरदान दिया था कि हर युग में माँ आरोग्य व शीतला माता के रूप में पूजी जाएंगी। सैकड़ों साल पहले गुरुग्राम में गुडगांव गांव के दादा सिंघा को सपने में माँ ने दर्शन दिए और तालाब में अपनी मूर्ति के होने का संकेत दिया था, जिसके बाद तालाब में खुदाई के दोरान माता शीतला की मूर्ति प्रकट हुई।  

Image result for sheetla mata gurgaon

नवरात्रों की शुरुयात के साथ शुरू हुए इस चैत्र मेले में आने वाले श्रद्धालुओं का भी कहना है कि माता शीतला कुल देवी है, जिसके दर्शनों से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है और इसीलिए लोग यहां दूर-दूर से माँ के दर्शनों के लिए आते हैं। ऐसी भी मान्यता है कि प्राचीन काल से ही लोग यहां अपनी मन्नतें मांगने और महामारियों से बचने आते रहे हैं। 

Image result for sheetla mata gurgaon

सप्त काल रात्रि शीतला माता के दर्शन के लिए श्रद्धालु देश के विभिन्न प्रदेशों हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश , राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश से यहां दर्शनों के लिए पंहुचते हैं। श्रद्धा और आस्था की मूर्त माता शीतला के दरबार में सच्चे मन से अपनी मनोकामना लेकर आने वाले हर एक भक्त की इच्छा जरुर पूरी होती है। मनमोहक आरोग्य माता शीतला की पूजा का फल ना केवल चेचक जैसे रोग ख़त्म कर देता है बल्कि लोगों में शीतलता भी पंहुचती है और दिन प्रतिदिन माता शीतला की मान्यता बढ़ती जा रही है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here