फिर जहरीली हुई साइबर सिटी की हवा, खतरे के निशान से उपर पहुंचा पीएम स्तर

0
234

हरियाणा न्यूज: गुरूग्राम की हवा एक बार फिर जहरीली हो गई है। देश के सबसे प्रदूषित शहर का मिजाज एक बार फिर बदल गया है। सोमवार को शहर में वायु प्रदूषण का स्तर 232 पीएम 2.5 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर दर्ज किया गया। जो सामान्य से कई गुणा ज्यादा है। 50 पीएम 2.5 से ज्यादा वायु प्रदूषण स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। पिछले डेढ़ माह से शहर में वायु प्रदूषण का स्तर 150 पीएम 2.5 के आसपास दर्ज किया जा रहा है।

दरअसल गुरुग्राम वायु प्रदूषण के मामले में देश का सबसे प्रदूषित शहर माना जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन से लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तक कई बार गुरुग्राम को देश का सबसे प्रदूषित शहर बता चुकी है। पिछले माह डब्ल्यूएचओ ने देश के 15 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों की सूची जारी की है। जिसमें गुरुग्राम का नाम भी शामिल था और सीपीसीबी दो वर्ष पहले ही देश का सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर बता चुका है।

पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में काम करने वाले अमेरिकी संगठन ग्रीन पीस ने अप्रैल माह में गुरुग्राम को देश के सबसे प्रदूषित शहर की लिस्ट में शामिल किया था। शहर में जहरीली हवा को देखते हुए डॉक्टरों का कहना है कि यहां सांस लेने का मतलब है कि एक व्यक्ति 24 घंटे में सांस के द्वारा इतना धुआं अपने अंदर ले रहा है, जितना 40 सिगरेट पीने से होता है। साल 2018 में चीन ने प्रदूषण को कम करने की दिशा में खासा काम किया है। पिछले साल की तुलना में चीन की धरती पर प्रदूषक तत्वों का औसत जमाव 12 फीसदी तक कम हुआ है। ऐसे मे सवाल यही है कि सायबर सिटी को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए क्या उपाय किए जाएंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here