बिहार में चमकी बुखार से हाहाकार, अभी तक 100 से ज्यादा बच्चे अस्पताल में भर्ती

0
145

हरियाणा न्यूज: बिहार में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। इस बीमारी से पिछले 20 से 22 दिनों में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने 57 बच्चों की मौत की जानकारी दी है। रिपोर्ट के मुताबिक 46 बच्चों की मौत मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज में हुई, जबकि 8 बच्चों ने केजरीवाल अस्पताल में दम तोड़ा। 3 बच्चों की मौत दूसरे अस्पतालों में हुई हैं। बच्चों की मौतों पर घिरती नीतीश सरकार अब एक्शन में आ गई है।

जिसके तहत स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज पहुंचे और इंसेफेलाइटिस वार्ड का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि डॉक्टरों को सारे निर्देश दिए गए है। डॉक्टरों के मुताबिक मात्र 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चे ही इस बीमारी के चपेट में आ रहे हैं। ज्यादातर मरने वाले बच्चों में 1 से 7 साल के बीच के बच्चे ही हैं।

इस बीमारी का मुख्य लक्षण तेज बुखार, बेहोशी, दस्त औऱ उल्टी है। चमकी यानी की बच्चों के शरीर में रह-रह कर कंपन होती है। यह भी इस बीमारी का एक लक्षण है। बीमारी का कहर देखते हुए डॉक्टरों का 24 घंटे ड्यूटी लगा दी गई है। मुजफ्फरपुर में बच्चों की हो रही मौत पर बिहार से स्वास्थ्य मंत्री व सीएम नीतीश लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here