भीषण गर्मी में पानी के लिए मचा हाहाकार, प्रशासन नहीं ले रहा कोई सुध

0
85

हरियाणा न्यूज: हरियाणा में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है, भीषण गर्मी की वजह से लोगों का जीना मुहाल हो चुका है लेकिन सोनीपत के लोगों के लिए गर्मी जी का जंजाल बन गई है। लोगों का इस गर्मी से बुरा हाल है और आलम ये है कि इस चिलचिलाती गर्मी में पीने का पानी तक नसीब नहीं हो रहा। ये हाल किसी ऐसे वैसे इलाके का नहीं है बल्कि कैबिनेट मंत्री कविता जैन की गृह जिले सोनीपत में शहर का जहां की कई कालोनियों, गांव और यहां तक कि आदर्श गांव में भी पीने के पानी की भारी किल्लत है। लोगों को इस तपती धूप में प्यास बुझाने के लिए दूरदराज से पानी लाना पड़ रहा है या फिर अपनी जेब ढीली करनी पड़ रही है।

सरकारी पानी राम भरोसे है और लोग भगवान भरोसे। पीने के पानी के लिए सिसाना गांव के लोग अधिकारियों से लेकर नेताओं तक गुहार लगा चुके हैं लेकिन अभी तक पानी की समस्या का हल नहीं हो  पाया है। आदर्श गांव में शुमार सिसाना गांव में इन दिनों सैकड़ों परिवार पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। ग्रामीणों की माने तो गांव में बिजली बिजली पानी का संकट हर साल गर्मियों में होता है, लेकिन हर बार उन्हें आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिलता। तो ना सिर्फ सोनीपत में बल्की प्रदेश के अन्य इलाकों में हालात बेहद खराब है, फतेहाबाद जिले में भी लगातार गिरते भूजल स्तर को देखते हुए यहां के किसान एलर्ट हो गए हैं। इसलिए किसान अब धान की परंपरागत बिजाई को छोड़कर सीधी बिजाई की और अपना रुख कर रहे हैं जिससे बिजाई में पानी की खपत कम हो।

इसके अलावा इस तप्ती गर्मी में सोहना में भी बिजली और पानी की समस्या की वजह से गुस्साए लोगों ने सोहना बिजली विभाग एसडीओ कार्यालय का घेराव किया। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में जो पानी की पाइप लाइन है वो जगह-जगह से लीक है और सरकारी पानी का कोई भरोसा नहीं है अगर कभी आता भी है तो वो पीने के लायक नहीं होता। बहराल भीषण गर्मी को देखते मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंत्रियों और अधिकारियों को पानी की किल्लत से निपटने के सख्त आदेश दिएं हैं। अब देखने वाली बात यो होगी कि सीएम के इस आदेश पर अधिकारी कितना गौर फरमाते हैं और इस आदर्श गांव की सुध कब लेते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here