नाटो देशों के समान दर्जा देने को लेकर भारत के लिए अमेरिका के सेनेट में पेश हुआ बिल

0
131

हरियाणा न्यूज: अमेरिकी संसद के दो सीनियर सेनेटर्स ने UN आर्म्ड कंट्रोल्स एक्सपोर्ट एक्ट में संशोधन के प्रस्ताव को सदन में पेश कर दिया गया है। साथ ही भारत को भी नाटो देशों के समान दर्जा देने को लेकर प्रस्ताव रखा गया है। इससे (इंटरनैशनल ट्रैफिक इन आर्म्स रेग्युलेशन लिस्ट) में अमेरिका के नाटो सहयोगियों के बराबर हो जाएगा भारत। फिलहाल अमेरिका की इस लिस्ट में इजरायल, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और दक्षिण कोरिया शामिल हैं। इस संशोधन विधेयक को डेमोक्रेट सीनेटर मार्क वॉर्नर और रिपब्लिकन सीनेटर जॉन कॉर्निन ने पेश कर दिया है।

भारत-अमेरिका के संबंधों में हो सकेगा सुधार

फिलहाल बिल में (फॉरेन मिलिट्री सेल्स) के नियमों में बदलाव की बात कही जा रही है।सूत्रों की माने तो यदि संसद से इसे मंजूरी मिल जाती है तो इससे भारत-अमेरिका के संबंधों में बड़ी प्रगति होगी। और ऑपरेशन जरूरतों के लिए जल्द हथियार और तकनीक की उपलब्धता भी हो सकेगी। इससे आपूर्ति में भी तेज आएगी।

भारत को हासिल हो सकती है संवेदनशील सैन्य सामग्री

अमेरिकी व्यवस्था में दो टेक्नॉलजी कंट्रोल लिस्ट हैं,जिसमें पहली लिस्ट (एक्सपोर्ट अडमिनिस्ट्रेशन रेग्युलेशन) है, जिसमें सिविल और मिलिट्री यूज के इक्विपमेंट्स आते हैं। तो वहीं दूसरी लिस्ट (इंटरनैशनल ट्रैफिक इन आर्म्स रेग्युलेशन) की है। पेंटागन के मुख्य रक्षा साझेदारों में भारत को शामिल होने पर अति संवेदनशील सैन्य सामग्री हासिल हो सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here