इंसाफ के लिए भटक रही रेप पीड़िता, सबूत होने के बावजूद पुलिस के हाथ खाली

0
29

हरियाणा न्यूज: हरियाणा में अब अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना भी जुर्म हो गया है। आवाज उठाएंगे तो आवाज दबा दी जाएगी ऐसा हम नहीं पानीपत की एक रेप पीड़ित लड़की बता रही है। पानीपत के मशहूर व्यापारी पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली युवती ने बुधवार को प्रेस वार्ता कर महिला थाने की एसएचओ पर गंभीर आरोप लगाए। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और महिला सुरक्षा के दावे आपने सरकार के नुमाइ्रदों के मुंह से खूब सुने होंगे। ये बातें सुनने में अच्छी भी लगती है लेकिन सिर्फ सुनने में।

हरियाणा सरकार ने महिला थाने खोले तो इसलिए थे कि पीड़ित महिलाओं की महिला पुलिस अफसर अच्छे से सुनवाई करेगी और न्याय दिलाएगी लेकिन पानीपत में तो कुछ उल्टा ही हो रहा है। आपको बता दें कि पानीपत की महिला ने शहर के एक मशहूर और रसूखदार व्यापारी पर रेप जैसे संगीन आरोप लगाए। पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया कि आरोपी व्यापारी ने उसके अश्लील वीडियो क्लिप बनाए और उसे वायरल कर दिया। जिसके बाद महिला थाने में अपनी शिकायत दर्ज करवाई लेकिन पीड़िता का आरोप है कि महिला थाने की इंचार्ज एक तो इस मामले में कार्रवाई नहीं कर रही और दूसरे पीड़िता को ही केस वापस लेने के लिए धमका रही है।

इतना ही नही पीड़िता का ये भी आरोप है कि थाने की इंजार्च ने उसे डरा का इस मामले की सभी वीडियो क्लिप डीलिट कर दिए।और उस गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी तक दी जा रही हैं। इस पूरे मसले में पीड़िता का साथ देने वाली समाज सेवी सविता आर्य को भी पुलिस की महिला अफसर ने धमकी दी है कि केस से दूर रहे वर्ना इसका अंजाम बुरा होगा। वहीं इस मामले पर डीएसपी सतीश वत्स ने कहा कि उनके संज्ञान में मामला नही है अगर ऐसा है तो जांच होगी। आरोपो में अगर जरा सी सच्चाई है तो महिला थानों पर सवाल उठने लाजमी है क्योंकि न्याय दिलाने के लिए खोले गए महिला थाने आगर महिलाओ को आवाज़ दबाने का काम करेंगे तो पीड़ित महिलाओं को कौन इंसाफ दिलाएगा और सवाल ये भी  क्या ऐसे लोगों पर कार्रवाई होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here