सीवर की सफाई के दौरान बड़ा हादसा, 4 मजदूरों की हुई मौत

0
81

हरियाणा न्यूज: रोहतक में सीवर की सफाई करने उतरे जनस्वास्थ्य विभाग के 4 कर्मियों की मौत ने बेहद गंभीर सवाल खड़े कर दिए है। बिना सुरक्षा उपकरणों के सीवर में उतरना और विभाग का उनपर ध्यान ना देना ये बताता है कि विभाग को अपने कर्मियों की जिंदगी की कितनी परवाह थी। विभाग की बेपरवाही का शिकार हुए 4 लोगों के परिजनों के दुख का महज अंदाजा ही लगाया जा सकता है। आपको बता दें रोहतक में बिना सुरक्षा उपकरणों के सीवर के डिस्पोजल पंप की सफाई करने उतरे जन स्वास्थ्य विभाग के 4 कर्मचारियों की जान चली गई थी। बताया जा रहा है कि गैस की चपेट में आने से चारों मजदूरों की मौत हो गई। आपको बता दें कि  पहली बार नहीं हुआ हो। देश भर के विभिन्न शहरों में एक हजार से ज्यादा सफाईकर्मियों की सीवर में मौत हुई है। लेकिन ऐसी घटनाओं को रोकने की कभी कोई बात नहीं होती है।

सरकार को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए, क्योंकि सबको जीने का हक हासिल है। सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि इन सफाईकर्मियों को गरिमा के साथ जीने का अधिकार है। जब भी कोई महामारी फैलती है या दुर्घटना होती है, तो उसकी रोकथाम के तत्काल उपाय किए जाते हैं, पर दुखद है कि सफाई कर्मचारियों की ऐसी मौतों को रोकने के लिए न तो केंद्र के पास और न ही किसी राज्य सरकार के पास कोई योजना है।

दिल्ली, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों में इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं। हैरानी की बात है कि इतनी मौतों के बाद भी किसी राज्य सरकार ने इसका कोई समाधान नहीं ढूंढा है। यह हमारे लोकतंत्र के लिए एक बड़ा धब्बा है। बहरहाल अब इस पूरे मामले में प्रशासन हरकत में आया है। विभाग के एसई, एक्सईएन और एसडीओ पर गैर इरादतन हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।   

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here