फतेहाबाद में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने घग्गर नदी पर लगाई चेतावनी

0
180

हरियाणा न्यूज़: हरियाणा के फतेहाबाद से होकर गुजरने वाली घग्गर नदी प्रदूषण को लेकर इन दिनों काफी सुर्खियों में बनी हुई है। प्रदूषित पानी के कारण हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने जिला फतेहाबाद के रतिया व जाखल क्षेत्र में घग्गर नदी किनारे 13 जगहों पर लगे ट्यूबवेलों पर चेतावनी बोर्ड लगाए है। जिस पर उस ट्यूबवेल का पानी पीने लायक न होना लिखा गया है। वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड,हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की संयुक्त टीमें हर तीन माह बाद उक्त ट्यूबवेलों के पानी के सैंपल लेने का निर्णय लिया है। बोर्ड ने सूचना पट्टर घग्गर नदी के 500 मीटर के दायरे में लगाए है।

इन जगहों पर लगाए गये है चेतावनी पट्ट बोर्ड ने रतिया के बुढलाडा रोड स्थित सर्विस स्टेशन, कंवलगढ, बबनुपर रोड रतिया, चांदपुरा रोड रतिया, साधनवास, नाली रोड ढाणी साधनवास, साधनवास गांव व तलवाड़ी में एक-एक, नडैल रोड जाखल में तीन जगह व तलवाड़ा में कुलां रोड व घग्गर के किनारे ट्यूबवेल पर लगाए है।

ये है मामला

पिछले दिनों घग्गर में बहने वाले पानी के साथ- साथ नदी के दोनों तरफ 500 मीटर के दायरे में खेतों में लगे निजी ट्यूबवेल के भी भूमिगत पानी के सैंपल लिये थे। जिसमें घग्गर के आस-पास जमीनी पानी सही न होने की रिपोर्ट सामने आई।

चेतावनी बोर्ड लगा दिये हैं

हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड हिसार के रिजनल आफिसर राकेश कुमार भौंसले ने बताया कि हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से रतिया व जाखल क्षेत्र में 13 जगहों पर लगाए गये हे। हर तीन माह बाद टैयूबेलों के पानी के सैंपल लिये जाएगें।

प्रदूषित पानी की वजह से फैली बीमारियां…

कभी घग्गर नदी लोगों के लिए जीवनदायनी मानी जाती थी। लेकिन अब प्रदूषित पानी के कारण काफी बदनाम हो चुकी नदी के प्रदूषित पानी के कारण रतिया टोहाना व जाखल इलाके में हेपेटाइटस-सी जैसी भयंकर बीमारी भी फेल चुकी है। जिसका इलाज करवाने के लिए इन इलाकों के लोग चंडीगढ़,रोहतक की पीजीआई में चक्करर काट रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here