ऐतिहासिक मेले में बच्चों की लाशों की लगाई प्रदर्शनी, हुआ तमाशा

0
23

हरियाणा न्यूजः कहा जाता हैं कि बच्चे भगवान का रुप होते हैं। लेकिन देश में तो कुछ और ही चल रहा है। एक हैरान कर देने वाली घटना रांची के जगन्नाथपुर इलाके से सामने आई है। आपको बता दें कि घटना जगन्नाथपुर के ऐतिहासिक मेले की है। जहां नवजात बच्चों की लाश को टब व बंद बोतलों में केमिकल के साथ रखकर प्रदर्शन किया जा रहा था। महत्वपूर्ण बात यह हैं कि मेला समिति के लोगों की भी इस प्रदर्शन पर नजर नहीं पड़ी थी और यह पूरा सीन पुलिस के मौजूदगी में चल रहा था। इस अमानवीय खेल को लोग बड़ी उत्सुकता से देख रहे थे। लोगो की जिज्ञासा इतनी बढ़ रही थी कि उसे पैसे भी दे रहे थे। इस घटना की तस्वीरें बुधवार को तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। पुलिस के उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी मिली।

जिसके बाद हटिया डीएसपी प्रभात रंजन बरवार के आदेश पर धुर्वा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। नवजातों की प्रदर्शनी लगाने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया हैं। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान कोलकता के सोरे बाजार जयमित्री स्ट्रीट निवासी वकील, पिंटू व प्रभात सिंह के रुप में हुई हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि मेला समिति को जानकारी देकर उन्होंने स्टॉल लगाई थी। उन्होंने समिति के लोगों को दस हजार रुपये भी दिया है। बच्चों की लाश वे कोलकाता के एक मेडिकल कॉलेज से लाए थे।

लोगों को नवजातों की लाश दिखाकर रुपये कमाना उनका मकसद था। हालांकि पूछताछ में एक ही महत्वपूर्ण बात सामने नहीं आई हैं। इस मामले में डीएसपी हटिया प्रभात रंजन बरवार ने बताया कि मेले में ऐसी अमानवीय हरकत करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। नवजातों बच्चों की लाश कहां से आई है, इसकी जांच में पुलिस अभी जुटी है। इस तरह नवजातों की लाशों का तमाशा गलत है। इस तरह का गलत व्यवहार अपराध की श्रेणी में आता है।  

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here