अधिकारियों की बड़ी लापरवाही फिर आई सामने, गरीबों के लिए भेजा गया सड़ा हुआ गेहूं

0
62

हरियाणा न्यूज: जठेडी गांव से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे शायद गरीबों के साथ मजाक भी करार दिया जा सकता है। दरअसल, गरीब लोगों तक जो गेहूं हर महीने पहुंचता था वो इस बार उन तक नहीं पहुंच पाया। इस बार जब डिपो पर गेहूं लेने के लिए लोग पहुंचे तो उन्होंने वहां विरोध शुरु कर दिया। लोगों का ये विरोध लाजमी भी था क्योंकि गेहूं के कट्टों से सड़ा हुआ गेंहू निकला। इस मामले में ग्रामीणों का कहना है कि इस अनाज को खाकर मरना नहीं है क्योंकि इस गेहूं को तो जानवर भी नहीं खाएंगे।

वहीं ग्रामीणों ने सरकार से इसकी जांच की मांग की है। वहीं, डिपो होल्डर नवीन ने बताया कि गेहूं के भीगने और खराब होने की शिकायत उच्च अधिकारियों को भेजी थी। लेकिन उच्च अधिकारियों ने इसे ही बांटने के आदेश दिए हैं। डिपो होल्डर ने खुद भी माना है कि गेहूं पूरी तरह खराब हो चुका है। यह पहला मामला नहीं है कि गेहूं सड़ चुका है। इससे पहले भी कष्ट निवारण समिति में सड़े हुए गेहूं का मामला उठ चुका है।

वहीं उच्च अधिकारियों के संज्ञान में मामला है लेकिन उसके बाद भी सड़ा हुआ गेहूं पहुंचना अधिकारियों की मिली भगत से इनकार नहीं किया जा सकता। अब देखना होगा कि इस मामले में ठोस कार्रवाई कब तक होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here