नदियों ने दिखाया अपना उग्र रूप, एक दर्जन गांवों ने किया पलायन…

0
37

हरियाणा न्यूज: नेपाल के तराई क्षेत्रों और उत्तर बिहार के कई जिलों में जारी बारिश से कमला, बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक और कोसी नदियां उफान पर हैं। कमला के जलस्तर में भारी वृद्धि से मधुबनी के जयनगर में स्थिति भयावह हो गई है। यहां कमला का तटबंध टूट गया। इसके कारण जयनगर बाजार की 90 प्रतिशत दुकानों में बाढ़ का पानी भर गया है। आधे शहर को प्रशासन ने खाली करा लिया है।

वहीं आसपास के दर्जनों गांवों के हजारों लोग भी बाढ़ से प्रभावित हैं। वहीं, लालबकेया और बागमती नदी के पश्चिमी तटबंध पर कई जगहों पर पानी का ज्यादा दबाव बना हुआ है। वहीं कोसी के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। इसके कारण देर रात वीरपुर बराज के सभी 56 फाटक खोल दिए गए। कोसी नदी का जलस्तर इस साल के सर्वाधिक स्तर पर है। निर्मली में पांच हजार परिवारों के घरों में पानी घुस गया है। करीब 40 हजार लोग प्रभावित हैं। वहीं मुरलीगंज में डूबने से 3 की मौत हो चुकी है

वहीं बागमती कटौंझा में आधा मीटर की वृद्धि के साथ लाल निशान से 2.67 मीटर ऊपर बह रही है। इस कारण औराई और कटरा प्रखंड में दहशत है। कटरा प्रखंड के एक दर्जन गांवों में पानी घुस जाने से लोग पलायन कर रहे हैं। कमला बलान और भूतही नदी भी अपना रौद्र रूप दिखा रही है। वाल्मीकिनगर बराज से गंडक में 1.89 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से गंडक नदी के जलस्तर में 30 सेमी की वृद्धि हुई है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here