‘मध्यस्थता’ वाले बयान के बाद सुर्खियों में आए ट्रंप, सोशल मीडिया पर इस तरह हुए ट्रोल

0
44

हरियाणा न्यूज: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कश्मीर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच ‘मध्यस्थता’ वाले बयान को भारत खारिज कर चुका है। ऐसे में सोशल मीडिया पर लोग ट्रंप को झूठा बोल रहे हैं। साथ ही उनपर मीम्स भी बन रहे हैं। आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप के बारे में कहा जाता है कि वो दुनिया में सबसे ज्यादा झूठ बोलने वाले नेता हैं। कुछ साल पहले नेताओं के झूठ बोलने की मनोवृत्ति पर एक किताब प्रकाशित हुई थी। इसका नाम था-“व्हाई लीडर्स लाई”

आपको बता दें कि सोमवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने के लिए पहल करने की बात कही थी। इस बीच ट्रंप ने यह भी दावा किया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कहा था कि वो (ट्रंप) कश्मीर विवाद के निपटारे में मदद करें और उन्हें मध्यस्थता करने में खुशी होगी। हालांकि व्हाइट हाउस द्वारा ट्रंप और इमरान की मुलाकात को लेकर जारी प्रेस रिलीज में ट्रंप के कश्मीर के संबंध में बयान का जिक्र नहीं है।

बता दें ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब ट्रंप ने झूठ बोला हो या गुमराह करने वाला दावा किया हो। ट्रंप कई बार झूठ बोल चुके हैं और उन्होंने कई बार गुमराह करने वाले दावे किए हैं। ट्रंप की झूठ की पोल कई बार अमेरिका के ही अखबार ने खोली है। अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने कई बार ट्रंप के झूठ को पकड़ा है।

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के फैक्ट चेकर्स डेटाबेस के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद से अब तक 10 हजार 796 बार झूठ बोल चुके हैं। इतना ही नहीं, अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद से ट्रंप ने औसतन रोजाना 12 बार झूठ बोलते हैं। वॉशिंगटन पोस्ट के फैक्ट चेकर्स डेटाबेस का कहना है कि अगर अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप का कोई बयान संदिग्ध लगा, तो उसकी पड़ताल की गई। इसमें ट्रंप के ज्यादातर बयान झूठे पाए गए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here