घाटी में धारा 144 हटाने से सुप्रीम कोर्ट ने किया इनकार, अभी भी बाधित है ये सेवाएं

0
74

हरियाणा न्यूज: धारा 370 हटने पर घाटी में हालात सामान्य होने के साथ-साथ धारा 144 को अभी भी बरकरार रखा गया है। घाटी में बकरीद का त्यौहार कड़ी सुरक्षा के बीच खुशी से मनाया गया। लेकिन इसके बाद भी जम्मू-कश्मीर में धारा 144 हटाने की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने मामले को संवेदनशील बताते हुए धारा 144 हटाने से इनकार कर दिया है।

धारा 144 हटाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के अटॉर्नी जनरल ने कहा कि जैसी ही स्थिति सामान्य होगी, व्यवस्था भी सामान्य हो जाएगी। हम कोशिश कर रहे हैं कि लोगों को कम से कम असुविधा हो। 1999 से हिंसा के कारण 44000 लोग मारे गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट मे सवाल उठाया कि क्या घाटी की स्थिति की समीक्षा की जा रही है। जिस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा कि हम रोज समीक्षा कर रहे हैं, सुधार आ रहा है। उम्मीद है कि कुछ दिनों में हालात सामान्य हो जाएंगे।

याचिकाकर्ता की वकील मेनका गुरुस्वामी ने कहा कि मूलभूत सुविधाओं को बहाल किया जाना चाहिए। कम से कम अस्पतालों में संचार सेवा को बहाल किया जाना चाहिए। जिसके बाद अटॉर्नी जनरल ने कहा कि स्थिति संवेदनशील है। हम मूलभूत सुविधाओं को बहाल करने पर काम कर रहे हैं।

दरअसल मामला इतना संवेदनशील है कि घाटी में अभी भी मोबाइल फोन, मोबाइल इंटरनेट और टीवी-केबिल की सुविधाएं बंद है। लेकिन जम्मू में धारा 144 को पूरी तरह से हटा दी गई है और कुछ क्षेत्रों में फोन की सुविधा चालू कर दी गई है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here