संकट से जुझ रही एयर इंडिया के पास तेल के भी नहीं है पैसे, पेट्रोलियम कंपनियों का 5000 करोड़ रुपये का बकाया

0
67

हरियाणा न्यूज़: संकट से जुझ रही राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया ने तीन सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों का करीब 5,000 करोड़ रुपये का ईंधन बिल नहीं चुकाया है। जी हां, कंपनी लगभग आठ महीने से यह राशि नहीं चुका पाई है। इस वजह से पेट्रोलियम कंपनियों को ईंधन की आपूर्ति रोकने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। इंडियन ऑयल ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने गुरुवार दोपहर बाद से देश के छह एयरपोर्टों कोच्चि, पुणे, पटना, रांची, विशाखापत्तनम और मोहाली में एयर इंडिया को ईंधन देना बंद कर दिया है।

तीनों तेल कंपनियों की ओर से इंडियन ऑयल ने एक बयान में कहा कि कोच्चि, मोहाली, पुणे, रांची, पटना और विशाखापत्तनम एयरपोर्ट पर एयर इंडिया की ईंधन आपूर्ति रोकने का संयुक्त निर्णय किया गया है। कंपनियों ने यह निर्णय एयर इंडिया पर लंबे समय से बकाया 5,000 करोड़ रुपये का बिल भुगतान नहीं करने के लिए किया है। इस राशि में बकाया और उस पर ब्याज शामिल है।

90 दिन में करना होता है भुगतान

इंडियन ऑयल ने कहा कि एयर इंडिया के पास ईंधन बिल का भुगतान करने के लिए 90 दिन की अवधि होती है। अत: वह जिस दिन ईंधन खरीदती है, उसके 90 दिन के भीतर उसे उसका भुगतान करना होता है। लेकिन एयर इंडिया की यह अवधि पिछले दो साल से करीब 230 दिन को पार कर चुकी है।

रोजाना 250 लीटर लेते थे तेज

तीनों कंपनियों ने 14 अगस्त की तारीख वाले पत्र के माध्यम से एयर इंडिया के प्रबंधन को बता दिया था कि यदि वह बकाए का भुगतान नहीं करती है तो 22 अगस्त से उसकी ईंधन आपूर्ति रोकने का निर्णय किया गया है। एयर इंडिया इन छह एयरपोर्टों से रोजाना करीब 250 किलोलीटर का विमान ईंधन लेती थी।

हालांकि इन छह एयरपोर्टों से एयर इंडिया का विमान परिचालन जारी है। कंपनी अन्य हवाईअड्डों से विमानों में ईंधन भरवा रही है। बता दें कि एयर इंडिया पर 58,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here