गणेश महोत्सव का हुआ आगाज, ढोल-नगाड़ों के साथ किया गणपति बप्पा का स्वागत

0
56

हरियाणा न्यूज: आज से गणेश महोत्सव शुरू हो गया है इस उत्सव के लिए लोग गणपति जी की मूर्ति को घर में विराजने के लिए ले जा रहे है और लगभग दस दिन बाद गणेश की मूर्ति को जल में प्रवाहित करेंगे। गणेश भक्त गणेश की मूर्ति लेने के लिए ढोल-नगाड़ो के साथ आ रहे है और लेकर है। अम्बाला-सहारनपुर मार्ग पर अम्बाला में एक विशेष समूहदाय के लोग पिछले लगभग 20 सालों से अम्बाला में गणेश उत्सव पर मूर्तियां बनाकर बेच रहे हैं। भाद्रपद माह की चतुर्थी को मनाया जाने वाला गणेश चतुर्थी का त्योहार पूरे देश में जोर-शोर से मनाया जाता है।

मान्यता है कि इस दिन भगवान गणेश धरती पर आते हैं और अपने भक्तों के कष्टों को हर लेते हैं। हर साल की तरह इस बार भी प्रदेश में गणपति बप्पा की धूम आज से शुरू होने जा रही है। अंबाला-सहारनपुर रोड पर इन मूर्तियों को लेने बड़ी-बड़ी दूर से लोग आकर मूर्तिकारों को पहले ही पैसे देकर मूर्ति को रोक लेते हैं और गणेश उत्सव शुरू होते ही मूर्ति को घर में ले जाकर रखते है फिर गणेश चतुर्थी को उसे किसी भी नदी में प्रवाहित करते है। गणेश महोत्सव सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में मनाया जाता है लेकिन अब ये उत्सव पूरा देश मनाता है।

अंबाला में भी ज्यादातर आर्मी एरिया है इसलिए यहां ज्यादातर आर्मी के लोगों ने ही उत्सव की शुरुआत की थी। अंबाला-सहारनपुर रोड पर पिछले बीस सालों से एक विशेष समुदाय के लोग गणेश जी की मूर्ति बनाकर बेचते हैं। मूर्तिकार कृष्णा का कहना है की वे पिछले 20  सालों से मूर्तियां बनाकर बेच रही है और अपना परिवार है। कृष्णा का कहना है की पहले ये मूर्तियां केवल फौजी ही ले जाते थे लेकिन अब ये उत्सव सभी लोग मनाते है !

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here