ग्रामीणों के गले की फांस बनी जगमग योजना, योजना में शामिल होने के बावजूद नहीं मिल रही सुविधा

0
80

हरियाणा न्यूज: गोहाना के गांव भंडेरी के लोग इन दिनों बेहद परेशान है। परेशानी की वजह है जगमग योजना में शामिल होने के बावजूद बिजली के बिलों में बढ़ोत्तरी और पर्याप्त बिजली ना मिल पाना। दरअसल गांव भंडेरी के रहने वाले ग्रामीणों ने बताया कि गांव में उन्होने अपनी जमीन देकर पॉवर हाउस बनवाया था। करीब तीन माह पहले बिजली निगम के एसडीओ उनके गांव पहुंचे और सभी ग्रामीणों को कहा कि अगर वह बिजली के मीटरों घर से बाहर लगावाएंगे तो उनके गांव में 18 से 20 घंटे बिजली आपूर्ति मिलेगी और बिजली का बिल दो रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से आएगा।

ग्रामीणों के मुताबिक उन्होंने एसडीओ पर विश्वास कर मीटरों को बाहर निकलवा लिया, लेकिन सभी वायदे झूठे निकले। न तो बिजली के बिल कम हुए और न ही बिजली उन्हें 18 से 20 घंटे दी गई। साथ ही उनके बिजली के बिलों में भी इजाफा हो गया। ग्रामीणों ने कहा उनके गांव में बिजली के मीटरों को बाहर निकलवाने से पहले उनका बिल 500 से 700 रुपये तक आता था लेकिन अब बिजली के बिल करीब 8 हजार रुपये तक आए हैं। योजना का लाभ देने की बजाय उन्हें गुमराह किया गया और उनके साथ निगम के अधिकारियों ने साजिश खेली।

बिजली के अघोषित कटों सहित पूरा मिलाकर उन्हें करीब 10 घंटे ही बिजली मिलती है। इसी कड़ी में ग्रामीणों ने एसडीएम आशीष वशिष्ठ से मुलाकात कर उनके बिलों को ठीक कराने की मांग की और कहा कि अगर बिलों को ठीक नहीं किया गया तो वह बिजली के बिल नहीं भरेंगे और धरना प्रदर्शन कर पॉवर हाउस पर ताला जड़ देंगे। वहीं इस पूरे वाक्य पर एसडीएम ने ग्रामीणों को समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here