चंद्रयान- 2: राष्ट्रपति कोविंद ने इस लोकप्रिय गीत की पंक्तियों से बढ़ाया वैज्ञानिकों का हौसला

0
54

हरियाणा न्यूज: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार (7 सितंबर) को चंद्रयान-2 अभियान के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए एक लोकप्रिय गीत की उत्साहजनक पंक्तियों का प्रयोग करते हुए कहा, “हम होंगे कामयाब, मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास, हम होंगे कामयाब एक दिन।”

बता दें कि चंद्रयान-2 के तहत विक्रम माड्यूल को चंद्रमा की सहत पर तय योजना के मुताबिक उतारने की इसरो की योजना पूरी नहीं हो सकी। अंतिम क्षणों में लैंडर का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया। राष्ट्रपति ने उम्मीद जताई कि भारत अगली बार अपने चंद्र अभियान में सफल होगा।

राजधानी दिल्ली में आयोजित राष्‍ट्रीय युवा महोत्‍सव में अपने संबोधन में राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘मुझे याद है कि चंद्रयान 2 का प्रक्षेपण पहले 15 जुलाई को निर्धारित किया गया था। मैं श्रीहरिकोटा में था। मैंने वृहद बाहुबली को काफी करीब से देखा। उसके बाद मैं उस स्थल तक गया। राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे जो सबसे अधिक अच्छा लगा, वह यह था कि इंजीनियरिंग टीम में पुरूषों के साथ काफी महिलाएं भी थी।”

कोविंद ने कहा कि चंद्रयान 2 को 22 जुलाई को प्रक्षेपित किया गया था और 50 दिनों तक यह पूरी तरह से सफल रहा। उन्होंने आगे कहा, “हमने 3.84 लाख करोड़ किलोमीटर की यात्रा सफलतापूर्वक पूरी की और केवल 2.1 किलोमीटर शेष रह गया था। जो दूरी शेष रह गई थी, वह नगण्य थी। यह बड़ी उपलब्ध रही।” राष्ट्रपति ने कहा, “मैं इसरो के वैज्ञानिकों से कहना चाहता हूं कि हम होंगे कामयाब, मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास कि हम होंगे कामयाब एक दिन।”

गौरतलब है कि भारत के चंद्रयान-2 मिशन को शनिवार तड़के उस समय झटका लगा, जब लैंडर विक्रम से चंद्रमा के सतह से महज दो किलोमीटर पहले इसरो का संपर्क टूट गया। इसरो ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि विक्रम लैंडर उतर रहा था और लक्ष्य से 2.1 किलोमीटर पहले तक उसका काम सामान्य था। उसके बाद लैंडर का संपर्क जमीन पर स्थित केंद्र से टूट गया। आंकड़ों का विश्लेषण किया जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here