HLP अध्यक्ष गोपाल कांडा ने राजनीतिक विरोधियों को दी सलाह, ‘औछी राजनीति करने से आए बाज़’

0
58

हरियाणा न्यूज: बीजेपी सरकार को अब पानी की बोतलों से दिक्कत होने लगी है। लेकिन जिसके बाद सियासत की एक अनोखी जंग सिरसा में देखने को मिली है। एक तरफ तो पानी की बोतलें सरकार की आंखों में खटक रही हैं तो वहीं दूसरी ओर इन्हीं को बांटा जा रहा है।

सत्ता में बैठी पार्टी इस बात पर हमेशा ध्यान देती है कि लोगों को उसके अलावा कोई और नजर ना आएं। तभी तो वो बाकी दलों को दबाने की भरपूर कोशिश करती है। आज की सियासत के हालात तो ऐसे हो गए हैं कि सरकार के लिए पानी की बोतलें भी परेशानी की वजह बन सकती हैं। दरअसल मंगलवार को HLP सुप्रीमो गोपाल कांडा ने स्कूली बच्चों को पानी की बोतलें बांटी थी, जिसपर प्रशासनिक कार्रवाई होने की खबरें सामने आने लगीं थीं।

बुधवार को जब HLP सुप्रीमो गोपाल कांडा सिरसा के भाई कन्हैया आश्रम पहुंचे तो वहां मौजूद पत्रकारों ने उनसे इस कार्रवाई के बारे में सवाल किए। जिसके जवाब में HLP सुप्रीमो गोपाल कांडा ने बीजेपी सरकार को औछी राजनीति से बाज़ आने की नसीहत दी।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि सिरसा में HLP का लोकहितैषी काम ना जाने कितने सालों से जारी है। फिर चाहे वो भंडारे हों या फिर लोगों की समस्याओं को निपटाने का काम। HLP हर मोड़ पर सिरसा की जनता के लिए खड़ी दिखाई दी है। ऐसे में इन कामों को राजनीतिक रंग देकर इसका फायदा उठाना किसका मकसद हो सकता है, ये तो आने वाला समय ही बता पाएगा। लेकिन इतना तो जनता भी समझती है कि सत्ता पक्ष कभी नहीं चाहता कि कोई और पार्टी लोगों की नजरों में ऊपर आए। वरना उसकी राजनीतिक दुकान बंद हो सकती है। सब जानते हैं कि सत्ता की गद्दी के साथ-साथ कांटों का ताज भी मिलता है। लेकिन वो कांटों का ताज तब ज्यादा चुभने लगता है जब आपके कामों पर सवाल उठने लगते हैं। ऐसे में ताज पहनने वाले की ये कोशिश रहती है कि जनता के हितों के काम करने वालों पर नकेल कसी जाए। ताकी जनता के पास कोई विकल्प ही ना बचें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here