पंचकूला: अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों के आगे झूकी सरकार, मिली बड़ी कामयाबी…

0
79
#STVHaryanaNews

हरियाणा न्यूज: प्रदेश में धरना प्रदर्शन का दौर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहें है और सरकार चुनावों की तैयारियों में जुटी हुई हैं। वहीं दूसरी तरफ लोग अपनी मांगे मनवाने के लिए जगह-जगह पर धरना प्रदर्शन कर रहें है।

आंदोलन के मूड़ में रोडवेज कर्मचारी

हरियाणा रोड़वेज कर्मचारियों ने आंदोलन का मन बना लिया हैं। रोड़वेज कर्मचारियों ने गेट मीटिंग कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की, और साथ ही सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया हैं। धरने पर बैठे रोड़वेज कर्मचारियों और यूनियन नेताओं ने कहा कि, सरकार लगातार कर्मचारी विरोधी फैसले ले रही है। कर्मचारियों के संघर्ष के बाद एक बार सरकार उनकी मांगे मान लेती है, लेकिन उन्हें लागू करने के समय अपने हाथ वापिस खींच लेती है। सरकार के इस रवैये से कर्मचारियों में जबरदस्त रोष है।

कर्मचारी यूनियन लेगी बड़ा फैसला

उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के 18 दिनों के संघर्ष और हाईकोर्ट की मध्यस्ता के बाद प्रदेश में 510 निजी ऑप्रेटरों को किलोमीटर स्कीम के तहत दिए जाने वाला परमिट रद्द कर दिया गया था। जो एक बड़ा घोटाला था। सरकार अपने फैसले से मुकर कर फिर से यही परमिट लागू करने जा रही है जिसका कर्मचारी कड़ा विरोध करते है। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि तालमेल कमेटी के आह्वान पर आने वाली 22 सितंबर को परिवहन मंत्री के गृहक्षेत्र इसराना में बड़ा सम्मेलन किया जाएगा, जिसमें कर्मचारी यूनियन कोई बड़ा फैसला लेगी।

मांगों को मानने का दिया आश्वासन

धरना प्रदर्शन कर रहें हरियाणा रोड़वेज के कर्मचारियों को बड़ी कामयाबी मिल गई है। सरकार ने बुधवार को हरियाणा रोडवेज कच्चे कर्मचारियों की मांगों को मानने का आश्वासन दे दिया हैं। रोडवेज कच्चे कर्मचारियों ने मांगें मान लिए जाने पर सभी ने खुशी जताई हैं। वहीं पंचकूला तहसीलदार ने धरना स्थल पर पहुंच कर  हरियाणा रोडवेज के कच्चे कर्मचारियों का धरना समाप्त करवाया हैं। आपको बता दें कि हरियाणा रोडवेज कच्चे कर्मचारी लगातार सरकार से स्थाई नौकरी की मांग कर रहे थे, और पिछले 52 दिनों से पंचकूला में अनिश्चितकालीन महापड़ाव पर बैठे हुए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here