कैथल में गुथमला नहर की सफाई करने वाली 4 महिला मजदूरों की मौत से हडकंप, कांग्रेस ने की 50 लाख मुआवजे की मांग

0
70
#STVHaryanaNews #Manrega #HaryanaCongress

हरियाणा न्यूज: हरियाणा के कैथल जिले में गुथमला नहर की सफाई करते समय 50 से ज्यादा मनरेगा की महिला मजदूरों के अज्ञात बीमारी के चपेट में आने से हडकंप मच गया है। इस बीमारी के चलते पिछले 17 दिनों में गुमथला में नहर की सफाई करने वाली 4 महिला मजदूरों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। वहीं करीब 45 महिला मजदूर गंभीर रूप से बीमार हैं, जिनका स्थानीय निजी अस्पताल में ईलाज चल रहा हैं। महिला मजदूरों की मौत पर कांग्रेस ने मनोहर सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस का दावा है कि सरकार द्वारा अभी तक मृतक और बीमार मजदूरों को मुआवजा नहीं दिया गया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मृतक मजदूरों को 50 लाख रूपये और बीमार मजदूरों को 10 लाख रूपये मुआवजा देने की मांग की है। सुरजेवाला ने ट्वीट एक अखबार का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए ट्वीट कर कहा, “न मिलता मनरेगा मज़दूरों को पूरा काम, क्या मज़दूरों की जान की कोई क़ीमत नहीं? क्यों इस विभत्स हादसे की जाँच नहीं हुई? क्यों ग़रीब परिवारों को मुआवजा नहीं? क्यों सोई पड़ी है निर्दयी खट्टर सरकार? मृतकों को मिले 50 लाख व बीमारों को 10 लाख मुआवजा।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाएं कुरुक्षेत्र जिले के गुमथला गांव में नहर की सफाई कर रहीं थी, जहां वे अज्ञात बीमारी की चपेट में आ गई। इस बीमारी से गांव दयोहरा की दो महिलाओं की मौत हो गई है, जबकि 30 बीमार हैं। इसी तरह क्योड़क गांव की 14 महिलाएं बीमार हैं और 2 महिला मजदूरों ने दम तोड़ दिया। इस बीमारी को लेकर अभी प्रशासन या सरकार की तरफ से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है और डॉक्टर भी अभी इसके बारे में कुछ बताने में असमर्थ हैं। वहीं, मृतक महिलाओं के गांव वाले इस बीमारी को लेकर अलग-अलग दावा कर रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here