विजिलेंस टीम ने KUK की प्रोफेसर को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

0
59

हरियाणा न्यूजः प्रदेश सरकार की सख्ताई के बाद भी खुले में रिश्वत लेने के मामले लगातार चर्चाओं में बने हुए है। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है कुरूक्षेत्र युनिवर्सिटी से जहां थीसिज वर्क के लिए प्रोफेसर ने 50 हजार रूपये की डिमांड की। विजिलेंस टीम ने हिंदी विभाग की अध्यक्ष डॉ. पुष्पा को थीसिज वर्क के नाम पर रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। मौके पर टीम ने आरोपित से 20 हजार रुपये बरामद किए हैं। तो वहीं अपने बचाव में आरोपित डॉ. पुष्पा का कहना है कि शोधार्थी ने किताबें मांगी थीं। जिसके बदले जबरन उनको रुपये दे गए। रिश्वत का आरोप झूठा है।

दरअसल विजिलेंस के निरीक्षक रमेश हुड्डा ने बताया कि सिरसा जिले के संदीप कांबोज ने शिकायत दी थी कि उसकी पत्नी प्रोमिल प्रोफेसर डॉ. पुष्पा रानी के अधीन एमफिल कर रही हैं। एमफिल के थीसिज वर्क के लिए उनसे 50 हजार रुपये की मांग की गई। शोधार्थी ने पूरी राशि एक साथ में असमर्थता जाहिर की तो उसे राशि किस्तों में भरने को कहा गया। जिसके बाद बातचीत को शोधार्थी ने अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया। मंगलवार को सुबह उसने यह रिकॉर्डिंग विजिलेंस को शिकायत के साथ सौंप दी, जिस पर डॉ.पुष्पा रानी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया था।

विजिलेंस टीम ने अपना दांव खेलते हुए दोपहर करीब तीन बजे संदीप कांबोज को 500-500 रुपये के 40 नोट पाउडर लगाकर दिए। जिसके बाद डॉ. पुष्पा रानी के कार्यालय में उसने यह राशि उन्हें दी और विजिलेंस को इशारा कर दिया। तभी दो महिला पुलिस कर्मियों के साथ टीम ने पुष्पा को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित विभागाध्यक्ष को बुधवार को कुरुक्षेत्र की अदालत में पेश किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here