पूर्व RBI गवर्नर रघुराम राजन ने सरकार को चेताया, कहा- आलोचनाओं को दबाने से नीतिगत गलतियां होंगी

0
108

हरियाणा न्यूज़: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को इशारों-इशारों में आगाह करते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने सोमवार को कहा कि शासन में बैठे लोगों को आलोचनाओं को सहना ही पड़ता है और आलोचनाओं को दबाना नीतिगत गलतियों का कारण बनती हैं। एक ब्लॉग में राजन ने कहा कि सरकारें जो सार्वजनिक आलोचनाओं को दबाती हैं, वह स्वयं एक घोर असंतोष है।

उन्होंने एक ब्लॉग में चेताया है कि आलोचनाओं को दबाते रहने से नीतिगत गलतियां शर्तिया होंगी। रघुराम राजन ने यह भी कहा है कि सिर्फ आलोचना ही वह रास्ता है, जिसकी वजह से सरकार सुधारात्मक नीतिगत कदम उठाती है। बता दें कि इससे पहले भी राजन कई दफा मोदी सरकार पर हमला कर चुके हैं। इस नए ब्लॉग के बाद रघुराम राजन मंगलवार सुबह से ही ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं।

जाने-माने न्यायविद तथा उदारवाद के अग्रणी पैरोकार ननी पालकीवाला की उपलब्धियों को याद करते हुए RBI के पूर्व गवर्नर ने लिखा, “हर प्रत्येक आलोचक को सरकारी अधिकारी की ओर से फोन पर पीछे हटने के लिए कहा जाएगा, या सत्तासीन दल की ट्रोल आर्मी का निशाना बनाया जाएगा, तो बहुत-से लोग अपनी आलोचना का सुर नीचा कर लेंगे, उसे हल्का कर लेंगे। ऐसे में सरकार तब तक सब कुछ अच्छा-अच्छा दिखने वाले माहौल में वक्त बिता सकेगी, जब तक कड़वी सच्चाई को सचमुच अनदेखा नहीं किया जा सकेगा…”

उन्होंने लिखा है कि शासन में बैठे के लोगों को आलोचना को सहन करना पड़ता है। बेशक मीडिया में आलोचना सहित कुछ गलत सूचनाएं और व्यक्तिगत हमले हो जाते हैं। मैंने इन सब चीजों को अपने पूर्व के काम में देखा है। हालांकि, आलोचना को दबा देना नीतिगत गलतियों के लिए एक सुनिश्चित आग वाला नुस्खा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here