रैलियों में अब लगेंगे स्टार प्रचारकों के मेले, क्या बड़ी हस्तियां पार लगा पाएंगी पार्टियों की नैया?

0
116

हरियाणा न्यूज: चुनावों का नामांकन तो पूरा हो गया है। अब सभी दल रैलियों और जनसभाओं में जुट गए हैं। मगर इन सभाओं और रैलियों को संबोधित करने वाले वो कौन शख्सियत होंगे इसकी जानकारी भी पार्टियों ने अब दे दी है। बीजेपी फिलहाल सत्ताधारी पार्टी है और 75 पार के नारे को पूरा करने के लिए वो हर कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती। तभी तो उसके स्टार प्रचारकों की लिस्ट काफी लंबी नहीं है। 40 प्रचारकों की इस लिस्ट में पार्टी ने पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा से लेकर हेमा मालिनी मनोज तिवारी और रवि किशन जैसे सांसदों को भी शामिल किया है।

हरियाणा चुनावों में बीजेपी ने प्रचार के लिए कई दिग्गजों को उतारा है। खुद पीएम मोदी 4 रैलियां करेंगे जबकी गृहमंत्री अमित शाह 9 और 14 अक्टूबर को हरियाणा में अपनी पार्टी के लिए हुंकार भरते नजर आएंगे। इसके अलावा अनुराग ठाकुर और यूपी के सीएम आदित्यनाथ भी हरियाणा में 75 पार के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाते दिखाई देंगे। गुरदासपुर से नए नए सांसद बने सांसद सनी देयोल भी हरियाणा में पार्टी के लिए प्रचार करते दिखाई देंगे। 40 लोगों की लिस्ट जारी कर पार्टी ने दिखा दिया है कि वो 75 पार करने के लिए कितने उतावले हैं।

कांग्रेस में स्टार प्रचारकों की लिस्ट सबसे दिलचस्प है। क्योंकि इस लिस्ट में किसी भी ऐसे चेहरे को शामिल नहीं किया गया है जो हालही में कांग्रेस की ओर से जीत कर आया हो। ये राज्य एक समय कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था मगर पिछले चुनावों में वो अपना किला खो बैठी। मगर इस बार पार्टी इनेलो की कमजोरी का पूरा फायदा उठाना चाहेगी। लेकिन उसके स्टार प्रचारकों में गिने चुने नाम ही दिखाई दे रहे हैं। हालांकि इस लिस्ट में पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर का नाम भी है। मगर वो पार्टी के लिए वोट मांगने निकलेंगे या नहीं इस बात की गारंटी नहीं है।

यही नहीं पार्टी ने नवजोत सिंह सिद्धू को भी इस लिस्ट में जगह नहीं दी है और अब तो जनता दल युनाइटेड के पूर्व नेता शरद यादव भी प्रचार करते नजर आएंगे। बीजेपी ने पीएम मोदी को लिस्ट में पहला स्थान दिया है तो कांग्रेस ने इस बार लिस्ट में सोनिया गांधी को सबसे ऊपर रखा गया है। वैसे नाम तो कांग्रेस ने राहुल गांधी का भी जोड़ रखा है जिनके लौटने के समय पर कोई भी नेता कुछ नहीं बता रहा है। बीजेपी के पास कांग्रेस की आपसी फूट का अच्छा मुद्दा है। जबकी कांग्रेस किसान यूवा और महिला सुरक्षा पर बीजेपी को घेरेगी।   

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here