जानिए सियासी समीकरण में क्या इनेलो के बागी विधायक नलवा में खिला पाएंगे कमल

0
249

हरियाणा की 90 विधानसभा में से नलवा सीट एक है। यह सीट हिसार जिले का हिस्सा है। इस क्षेत्र को सड़क और रेलमार्ग से जुड़ा यह क्षेत्र गेहूं और धान की खेती के लिए भी जाना जाता है। पहले ये क्षेत्र पंजाब का हिस्सा था। इस क्षेत्र में 28 प्रतिशत से भी ज्यादा आरक्षित अनुसूचित समुदीय के लोग रहते है। 2009 में यहां कराए गए चुनाव में कांग्रेस के संपात सिंह विधायक बने। यहां से मौजूदा विधायक रणवीर गंगवा है।

बात करें 2014 की तो नलवा सीट पर इनेलो और एच.जे.सी.बी.एल की टक्कर देखने को मिली। इनेलो प्रत्याशी रणबीर गंगवा को 41950 वोट प्राप्त हुए वहीं एच.जे.सी.बी.एल के प्रत्याशी चंदर मोहन को 34835 वोट प्राप्त हुई थी। दोनो के बीच अंतर सिर्फ 7115 वोटो का रहा। नलवा का वोट प्रतिशत 77.2 रहा। 2014 में यहां 152300 मतदाता रहें। जिनमें 81368 पुरूष मतदाता थे और 70932 महिला मतदाता थे।

पार्टी प्रत्याशी वोट प्राप्त अंतर
इनेलो रणबीर गंगवा 41950  
एच जे सी बी एल चंदर मोहन 34835 7115

2019 की टक्कर

हरियाणा चुनाव 2019 में सत्ताधारी बीजेपी ने इनेलो का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुए मौजूदा विधायक रणबीर गंगवा को टिकट दिया है। एक के बाद एक विधायक के पार्टी छोड़ने और भीतरी कलह से जुझ रहीं कांग्रेस रणधीर पनिहार को टिकट दिया है। वहीं दो गुटो में बटी इनेलो ने नए उम्मीदवार सतपाल काजला को टिकट दी है। जेजेपी ने इस सीट से विरेंद्र चौधरी को चुनावी रण में उतारा है। यहां 2019 में 165642 मतदाता है।

पार्टी प्रत्याशी
बीजेपी रणबीर गंगवा
कांग्रेस रणधीर पनिहार
इनेलो सतपाल काजला
जेजेपी विरेंद्र चौधरी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here