नीलोखेड़ी में क्या फिर खिलेगा कमल? सियासी समीकरण में जानिए किसकी है टक्कर

0
79
#ChunavHaryanaKa

हरियाणा चुनाव 2019: हरियाणा विधानसभा चुनावों के ऐलान के बाद सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी साख बचाने के लिए जमकर जुटी है। स्टार प्रचारकों के मैदान में उतरने के बाद ये प्रचार और भी तेज हो गया है। हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों में से एक है नीलोखेड़ी विधानसभा क्षेत्र। नीलोखेड़ी सीट का विधानसभा क्षेत्र और लोकसभा क्षेत्र करनाल है। 1967 के पहले विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करने के बाद भारतीय जनसंघ के एस राम को विधायक चुना गया। बीजेपी के भगवान दास कबीरपंथी यहां के मौजूदा विधायक है।

बता दें कि नीलोखेड़ी क्षेत्र बंटवारे के दौरान 1948 में पाकिस्‍तान से आए शरणार्थियों को रखने के लिए बसाया गया था। 2011 की जनगणना के तहत इस क्षेत्र की आबादी 16405 है। बड़े शैक्षणिक संस्थानों के कारण यह जगह बहुत ही लोकप्रिय है और नीलोखेड़ी का शैक्षणिक स्तर 73 प्रतिशत है। फिलहाल यहां से कुल मतदाता 186633 है।

2014 का सियासी समीकरण

पार्टी प्रत्याशी वोट प्राप्त अंतर
बीजेपी भगवान दास कबीरपंथी 58354
इनेलो मामू राम 23944 34410

2019 की टक्कर

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में बीजेपी के सामने अपना गढ़ बचाने की चुनौती है। पार्टी आलाकमान ने एक बार फिर मौजूदा विधायक भगवान दास कबीरपंथी पर विश्वास जताते हुए उन्हें रण में उतारा है। तो वहीं कांग्रेस से बंता राम वाल्मीकी, इनेलो से सोनिका गिल और जन नायक जनता पार्टी से भीम सिंह अपनी-अपनी पार्टी की साख बचाने की पूरी कोशिश करेंगे।

पार्टी प्रत्याशी
बीजेपी भगवान दास कबीरपंथी
कांग्रेस बंता राम वाल्मीकी
इनेलो सोनिका गिल
जेजेपी भीम सिंह

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here