व्हाट्सएप का दावा- भारत सरकार को सितंबर में ही दे दी थी 121 लोगों की जासूसी की जानकारी

0
140

हरियाणा न्यूज़: जासूसी कांड पर जारी घमासान के बीच फेसबुक के स्वामित्व वाली
मैसेजिंग एप कंपनी व्हाट्सएप ने दावा किया है कि उसने सितंबर महीने में ही भारत सरकार को बता दिया था कि 121 भारतीय यूजर्स को इजरायली स्पाइवेयर पेगासस ने निशाना बनाया है। वहीं, आईटी मंत्रालय ने कहा है कि उसे व्हाट्सएप से जो सूचना मिली थी वह अपर्याप्त और अधूरी थी।

सूत्रों ने समाचार एजेंसी पीटीआई को यह जानकारी देते हुए कि व्हाट्सएप ने सरकार द्वारा उससे पिछले सप्ताह पेगासस स्पाइवेयर घटना पर मांगे गए स्पष्टीकरण पर अपनी प्रतिक्रिया दे दी है। बता दें कि इजरायली स्पाइवेयर के जरिए कथित रूप से भारत सहित दुनियाभर में पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की जासूसी की गई थी।

सितंबर में दूसरी बार किया था सतर्क

आईटी मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि उन्हें व्हाट्सएप से जवाब मिल गया है और अभी उसका अध्ययन किया जा रहा है। इस पर जल्द अंतिम राय तय की जाएगी। सरकार को पिछले सप्ताह भेजे जवाब का ब्योरा देने से इनकार करते हुए व्हाट्सएप ने बताया कि उसने सरकार को सितंबर में भी इसके बारे में सतर्क किया था। मई में इसकी जानकारी देने के बाद सितंबर में दूसरी बार सरकार को इसकी जानकारी दी गई थी।

सरकार ने कहा- अधूरी थी व्हाट्सएप की जानकारी

सूत्रों ने कहा कि फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने सितंबर में भेजी सूचना में कहा था कि 121 भारतीय यूजर्स इस स्पाइवेयर से प्रभावित हैं। आईटी मंत्रालय के अधिकारियों ने इस बात को माना कि उन्हें पूर्व में भी व्हाट्सएप से इस बारे में सूचना मिली थी, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहले मिली सूचना अपर्याप्त और अधूरी थी। साथ ही उसमें काफी अधिक तकनीकी शब्दावली का इस्तेमाल किया गया था।

व्हाटसएप ने हैकिंग की संभावना के बारे में प्रियंका गांधी को किया था सतर्क

कांग्रेस ने रविवार को दावा किया कि पार्टी की महासचिव और वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को व्हाट्सएप से एक संदेश प्राप्त हुआ था, जिसमें उन्हें बताया गया था कि उनके फोन के हैक होने की आशंका है। हालांकि, पार्टी ने यह नहीं बताया कि प्रियंका को यह संदेश कब प्राप्त हुआ था।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने फेसबुक के मालिकाना हक वाले व्हाट्सएप से राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को संदेश मिलने के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘मैं आपसे कहना चाहता हूं कि प्रियंका गांधी को भी लगभग उसी वक्त व्हाट्सएप से इसी तरह का एक संदेश प्राप्त हुआ था।’’

व्हाट्सएप के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर है विपक्ष

बता दें कि व्हाट्सएप ने गुरुवार को कहा था कि इजरायली स्पाइवेयर पेगासस के जरिए कुछ अज्ञात इकाइयों ने दुनियाभर में पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की जासूसी की। इनमें भारतीय पत्रकार और कार्यकर्ता भी शामिल हैं। हालांकि, व्हाट्सएप ने यह खुलासा नहीं किया है कि किसके कहने पर पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के फोन हैक किए गए हैं। कंपनी के इस खुलासे के बाद से विपक्षी पार्टियां जासूसी का आरोप लगाकर सरकार पर हमलावर हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here