CBI को बड़ा झटका, जाट आरक्षण आंदोलन में शामिल तीन आरोपियों को मिली जमानत

0
56

हरियाणा न्यूज: जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान कैप्टन अभिमन्यु की कोठी में आगजनी के आरोपी युवा जाट नेता सुदीप कलकल को हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। तकरीबन साढ़े तीन साल बाद आरोपी को नियमित जमानत मिली है। इसके अलावा दो अन्य आरोपियों गौरव बुधवार और हरिओम की भी जमानत मंजूर कर ली गई। कलकल पूर्व वित्तमंत्री के आवास पर आगजनी और तोड़फोड़ मामले में मुख्य आरोपी था।

जेल से बाहर आने पर सुदीप का परिजनों और रिश्तेदारों ने स्वागत किया और पटाखे छुड़ाकर खुशी जाहिर की। जमानत मिलने पर सुदीप ने कहा कि नेताओं और कुछ स्वयंभू जाट नेताओं ने इस पूरे मामले में राजनीति की है। उन्हें न्याय बड़ी देरी से मिला, परिवार को भी इस दौरान काफी कुछ सहन करना पड़ा।

वे बेकसूर होते हुए भी साढ़े तीन साल तक जेल में बंद रहे, कैप्टन की कोठी को बचाने के लिए गए थे, लेकिन उल्टा उन्हें ही फंसा दिया। जिस दिन जेल गया, तब बेटी एक दिन की थी, वह भी अब नहीं पहचान पाती कि ये कौन है। परिवार ने काफी कुछ भुगता है, लेकिन अब न्यायालय पर विश्वास है कि इंसाफ मिलेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here