Moodys ने भारत के आर्थिक मोर्चे को दिया झटका! रेटिंग को ‘स्थिरता’ से घटाकर किया ‘निगेटिव’

0
33
#Moodys

हरियाणा न्यूज: आर्थिक मोर्चे पर भारत को एक और बड़ा झटका लगा है। अतंरराष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की आर्थिक रेटिंग को स्थिरता से घटाकर निगेटिव कर दिया है। मूडीज का कहना है कि पहले के मुकाबले भारतीय अर्थव्यवस्था में जोखिम बढ़ गया है, इसलिए उसने रेटिंग घटाई है। मूडीज के आउटलुक से इस बात का अंदाजा मिलता है कि किसी देश की सरकार और वहां की नीतियां आर्थ‍िक कमजोरी से मुकाबले में कितनी प्रभावी हैं।

मूडीज की प्रतिक्रिया पर भारत का बयान

आर्थिक रेटिंग घटाने पर भारत सरकार ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था की बुनियाद काफी मजबूत है और हाल ही में किए गए सुधारों की घोषणा निवेश को प्रोत्साहित करेगी। इस संदर्भ में वित्त मंत्रालय ने कहा कि भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

मंत्रालय ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के ताजा विश्व इकोनॉमिक आउटलुक में भारत की वृद्धि दर 6.2 फीसदी बताई गई थी और उससे अगले साल के लिए सात फीसदी रहने की बात कही थी। आईएमएफ ने अन्य संगठनों के अनुसार भारत की विकास दर अपरिवर्तित है।

इसी के साथ सितंबर में रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने दावा किया था कि भारत में आर्थिक सुस्‍ती के अंदेशे से ज्‍यादा व्‍यापक और गहरा रहा है। तब क्रिसिल ने भी GDP ग्रोथ के अनुमान को घटा दिया था। क्रिसिल के मुताबिक 2019-20 में देश की GDP ग्रोथ 6.3 फीसदी रहने का अनुमान है।

बता दें कि मोदी सरकार ने अगले पांच साल में देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य रखा है, लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसके लिए लगातार कई साल तक सालाना 9 फीसदी की ग्रोथ रेट होनी चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here