अगर आप भी तेज रफ्तार से चलाते है गाड़ी, तो हो जाइए सावधान! 5 सेकेंड का वीडियो खोल सकता है आपकी पोल

0
70

हरियाणा न्यूज: मेरठ एक्सप्रेस वे शुरू होने के बाद पूरे दिल्ली से मेरठ तक पूरे मार्ग पर प्रत्येक दो किलोमीटर की दूरी पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। लेकिन यूपी गेट से डासना के बीच 10 अत्याधुनिक घटना पहचान कैमरे लगाए जाएंगे। इससे गलत ड्राइविंग करने वालों की फुटेज सीधे कंट्रोल रूम तक पहुंच जाएगी। यह 10 स्मार्ट कैमरे गलत ड्राइविंग का पांच सेकेंड का वीडियो बनाकर उसे कंट्रोल रूम भेजेंगे। इसके बाद चालक के पते पर चालान भेजा जाएगा। कंट्रोल रूम लालकुआं पर बनाया जाएगा।

वहीं दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे अगले वर्ष पूरी तरह बनकर तैयार हो जाएगा। तेज रफ्तार एक्सप्रेस वे पर लगातार निगरानी की आवश्यकता होगी, इसलिए पूरे एक्सप्रेस वे पर प्रत्येक दो किलोमीटर के अंतराल पर कैमरे लगाए जाएंगे। एनएचएआई अधिकारियों का कहना है कि हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट सभी वाहनों में लगने के बाद इन कैमरों के जरिए प्लेट की फुटेज भी प्राप्त की जा सकेगी।

एक्सप्रेस वे पर गति मापने के लिए चार स्थानों पर गति मापने के अत्याधुनिक कैमरे लगाए जाएंगे। इन कैमरों को प्रताप विहार गंगाजल प्लांट कट, बम्हैटा, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे जंक्शन से के पास तथा परतापुर के पास लगेगा।

एनएचएआई गाजियाबाद में लालकुआं के पास, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे से दो किलोमीटर आगे, भोजपुर और मेरठ में परतापुर के पास टोल प्लाजा बनाएगा। इन टोल प्लाजा से ही एक्सप्रेस वे पर चढ़ने और उतरने की जगह होगी। वाहन चालक टोल प्लाजा पर प्रवेश करने पर पर्ची लेंगे और जिस जगह उतरेंगे वहां पर्ची देकर टोल चुकाकर बाहर निकल सकेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here