जान हथेली पर रखकर पढ़ाई करने जाती हैं छात्राएं, स्कूल की जर्जर बिल्डिंग में लगती है क्लास

0
38

हरियाणा न्यूज: पृथला के गांव बघोला स्थित सरकारी स्कूल में छात्र-छात्राएं डर के साए में पढ़ने को मजबूर है। एक तरफ जहां स्कूल की बिल्डिंग को कंडम घोषित किया हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ नेशनल हाईवे को पार करके बच्चे जान जोखिम में डालकर पढ़ने जाते हैं। लेकिन इस मामले सरपंच और स्कूल के हेड मास्टर दोनों ही मामले में सफाई देते हुए नजर आते हैं। लेकिन समस्याओं का हल होता दिखाई नहीं दे रहा है। कंडम घोषित हुई बिल्डिंग में ही बच्चों को बिठाकर पढ़ाया जाता है बिल्डिंग कभी भी गिर सकती है जिससे बड़ा हादसा होने का अंदेशा है। लेकिन बावजूद उसके प्रशासन को इसकी कोई चिंता नहीं।   

इसको लेकर शिक्षकों का कहना है कि उन्होंने इसकी लिखित में पंचायत व प्रशासन को शिकायत दी हुई है और वे यह भी जानते हैं कि यह बिल्डिंग कंडम घोषित की हुई है। लेकिन उनके पास कोई भी ऑप्शन नहीं है और वह इन बच्चों को यहीं पर शिक्षा देने के लिए मजबूर है। इतना ही नहीं बच्चे जब अपने घरों से सुकून के लिए आते हैं या फिर स्कूल से घर के लिए जाते हैं तो अपनी जान हथेली पर लेकर नेशनल हाईवे को पार करते हैं जबकि इसको लेकर भी पिछले काफी समय से प्रशासन को लिखित में शिकायत दी हुई है।


वहीं, छात्राओं का कहना है कि सड़क पार करते समय उन्हें बहुत डर लगता है और कई बार यहां दुर्घटनाएं भी हुई हैं जिसमें कई बच्चे घायल हो चुके हैं। उन्होंने स्कूल के टीचर व सरपंच से भी कई बार इस बारे में कहा है लेकिन कोई भी हल नहीं किया गया है और वह पढ़ाई के लिए मजबूरी में 4 सड़क पार करके पढ़ने के लिए आती हैं और फिर वापस घर भी जाती हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here