ट्रक यूनियनों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, इन मांगों को लेकर किया अनिश्चितकालीन चक्का जाम

0
56

हरियाणा न्यूज: हिसार में ट्रक यूनियनों ने सरकार के खिलाफ एकबार फिर मोर्चा खोल दिया है। एक नवम्बर से लागू किए गए एक्ट को वापिस लेने, बीमा की दरों में कटौती, परमिट फ़ीस में कमी, टैक्स में कटौती, टोल टैक्स में कटौती के साथ-साथ डीजल को जीएसटी में लिए जाने सहित कुल ग्यारह मांगों को लेकर आल इण्डिया दी भाईचारा ट्रक वैलफेयर एसोसिएशन की देशव्यापी हड़ताल के समर्थन में दी ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन हिसार भी अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल हो चुकी है।

अनिश्चितकालीन चक्काजाम में जिले के लगभग 4500 ट्रक शामिल हैं। एसोसिएशन का कहना है कि पहले भी जंतर मंत्र पर धरने के साथ साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को भी अवगत करवाया गया था लेकिन मांगें नहीं मानी गई जिसके बाद अनिश्चित चक्का जाम किया गया है। एसोसिएशन ने आगामी रणनीति की जानकारी देते हुए बताया की यदि उनकी मांगे नहीं मानी जाएंगी तो सभी गाड़ियों को सड़क पर खड़ी कर चाबियां और परमिट सरकार को सौंप दिए जाएंगे।

दी ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन हिसार से सुनील शर्मा ने बताया की आल इण्डिया दी भाई चारा ट्रक वैलफेयर एसोसिएशन की देशव्यापी हड़ताल को समर्थन देते हुए ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन हिसार ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की है। उन्होंने बताया की अपनी मांगों के लिए जन्तर मंत्र पर हड़ताल करने के साथ साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को भी पत्र के माध्यम से अवगत करवाया गया था। लेकिन एसोसिएशन की मांगों को लेकर कोई समाधान नहीं हुआ। सुनील शर्मा ने बताया की इसके बाद अब अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की गई है।

आगामी रणनीति की जानकारी देते हुए सुनिल कुमार ने बताया की यदि उनकी मांगों को लेकर सरकार गंभीर नहीं होती है तो सभी गाड़ियों को रोड़ पर खड़ा करते हुए परमिट और गाड़ी की चाबियां सरकार के हवाले कर दी जाएंगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here