अंबाला: कैंटोनमेंट बोर्ड की बैठक के दौरान आपस में भिड़े अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, जानिए क्या है पूरा मामला

0
39

हरियाणा न्यूज: अंबाला के बोर्ड परिसर में कैंटोनमेंट बोर्ड की विशेष बैठक बुलाई गई। जिसमें बोर्ड अध्यक्ष, सीईओ सहित बीजेपी के 6 और विपक्ष के दो पार्षदों सहित सेना अधिकारियों ने भाग लिया। बोर्ड के उपाध्यक्ष अजय बवेजा और बोर्ड अध्यक्ष के बीच रक्षा मंत्रालय से पुनः वार्ड आरक्षित करने बारे आय पत्र पर बहस हो गई।

बवेजा ने कहा कि, वे सीईओ कैंटोनमेंट बोर्ड से स्पष्टीकरण मांगे कि यदि वार्ड आरक्षित करने बारे पत्र जब अब आया है तो सीईओ ने पहले किसकी अनुमति से वार्ड आरक्षित कर दिए? बीजेपी पार्षदों ने बवेजा का साथ देते मांग की, यदि सीईओ ने जानबूझ कर किया है और चुने हुए नुमाइंदों की बिना इजाजत किया, तो इसकी एक जांच कमेटी बनाकर जांच की जाए कि आखिर उन्होंने ऐसा किसके कहने पर किया। यदि उन्हें ज्ञान नहीं तो उन्हें रहने का कोई अधिकार नहीं है। बवेजा ने कहा कि सीईओ पहले भी कई बात पार्षदों से बदतमीजी कर चुके हैं।

वहीं दूसरी ओर विपक्षी पार्षद सुरेंद्र तिवारी का कहना था कि बीजेपी पार्षद अपनी ही सरकार के नुमाइंदों के खिलाफ बायकॉट कर रहे हैं जो सरकारी मापदंड के खिलाफ है। उनका कहना है कि वार्ड आरक्षित प्रक्रिया तो नियम है और इसमें किसी को ऐतराज नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि बोर्ड जिस मर्जी वार्ड को आरक्षित करे हमने तो चुनाव लड़ना है।

दूसरी ओर बोर्ड के सीईओ अनुज गोयल ने कहा कि आज बोर्ड द्वारा आने वाले बोर्ड चुनाव सहित कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों बारे विशेष बैठक बुलाई थी। सीईओ ने कहा कुछ विवाद उठा था जो वाकआउट के बाद हुई बैठक में पास कर दिया गया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here