रेप के आरोपी भगोड़े नित्यानंद ने बनाया ‘अपना देश’, ‘कैलासा’ में प्रधानमंत्री और संविधान सहित मंत्रालय-दफ्तर सबकुछ

0
59

हरियाणा न्यूज़: रेप आरोपी और भगोड़ा घोषित स्वयंभू बाबा नित्यानंद ने साउथ अमेरिका के एक देश इक्वाडोर में आइलैंड खरीदकर उसे ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित कर दिया है। बता दें कि नित्यानंद को अहमदाबाद स्थित उसके आश्रम के लिए अनुयायियों से चंदा एकत्र करने की खातिर बच्चों को कथित रूप से अगवा कर कैद में रखने के लिए गुजरात पुलिस तलाश कर रही है।

इस बीच Kailaasa.org नामक वेबसाइट सामने आई है, जिससे संकेत मिलते हैं कि नित्यानंद ने अपने नए देश की स्थापना कर दी है, जिसके लिए उसने नया ध्वज, नया संविधान तथा नया प्रतीक चिह्न भी तय कर लिया है। नित्यानंद पर अवैध तरीके से बच्चों को कैद में रखने और बलात्कार का आरोप है।

बिदादी आश्रम में ही पहली बार विवादित धर्मगुरु का पहला कारनामा 2010 में सामने आया था। एक अभिनेत्री के साथ आपत्तिजनक स्थिति में उसका एक वीडियो वायरल हो गया था और इसके बाद करीब आठ साल तक वह गुमनामी में चला गया। एक साल पहले वह अपने नए अवतार में प्रकट हुआ। इस बार वह भूरे रंग के कपड़े और शेर की खाल पहने हुए था। उसकी दाढ़ी मूंछ बढ़ी हुई थी। वह हाथ में त्रिशूल लिए था और गले में मनके की माला पहनी थी।

नित्यानंद के अहमदाबाद आश्रम- योगिनी सर्वज्ञपीठम में दो लड़कियों के गायब होने के बाद उसके खिलाफ पिछले महीने एक एफआईआर दर्ज हुई। उस पर बच्चों अपहरण और उनके जरिए गलत तरीके से आश्रम के अनुयायियों से चंदा जमा करने के आरोप लगे। पुलिस उसकी तलाश कर ही रही थी कि खबर आई कि उसके इक्वाडोर के निकट एक द्वीप पर एक हिंदू राष्ट्र ‘कैलाश’ का गठन कर लिया है, जिसका अपना झंड़ा और राजनीतिक व्यवस्था है।

हिंदुओं को किया आमंत्रित

‘कैलासा’ की वेबसाइट के मुताबिक “यह सीमा रहित राष्ट्र है, जिसे दुनिया भर के बेदखल हिंदुओं ने बसाया है, जिन्हें उनके अपने देश में प्रामाणिक रूप से हिंदू धर्म का अभ्यास करने की अनुमति नहीं है।” इसमें कहा गया है कि कैलाशा को न सिर्फ सनातन हिंदू धर्म की रक्षा और संरक्षण के लिए, और उसे पूरे विश्व से रूबरू कराने के लिए बनाया गया है, बल्कि इसके जरिए उत्पीड़न की ऐसी कहानी भी बताई जाएगी, जो अभी तक दुनिया को पता नहीं है।

अपना झंडा भी बनाया

पीटीआई/भाषा के मुताबिक, इस देश का अपना तिकोना झंडा है, जिस पर परमशिव और नंदी का चित्र है और इसे ‘ऋषभ ध्वज’ नाम दिया गया है। इसकी मुख्य भाषाएं अंग्रेजी, संस्कृत और तमिल हैं। इस नए देश की सरकार में आंतरिक सुरक्षा, रक्षा, कोषागार, वाणिज्य, आवास, मानवीय सेवाएं और शिक्षा जैसे विभिन्न विभाग हैं। इसबीच भारत में पुलिस को इस बारे में कोई भनक नहीं है कि नित्यानंद कहां है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here