झज्जर: सफेद कोट पहने डॉक्टरों ने चलाया सफाई अभियान, जिले में अस्पतालों का बदला नजारा

0
159

हरियाणा न्यूज: पहले पुलिस स्टाफ में और अब स्वास्थय सेवाओं में हरियाणा सरकार के गब्बर कहे जाने वाले स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का खौफ अब कर्मचारियों में साफ देखा जा रहा है। हरियाणा की पुलिस चौंकियों और थानों में हुक्के की गुडग़ुड़ाहट को बाहर किए जाने के बाद जहां पुलिस कर्मियों ने हुक्के का लुत्फ उठाने के लिए वैकल्पिक रास्ते खोज लिए है, वहीं अब नागरीक अस्पतालों में पीएचसी और सीएचसी सैंटर पर किसी भी प्रकार से स्वास्थ्य मंत्री विज की नजर न गिर जाए। इसी के चलते अब सरकारी अस्पतालों में भी चिकित्सकों ने अस्पतालों की साफ-सफाई और रिकार्ड को दुरूस्त करने की कवायद शुरू कर दी है।

रविवार को छुट्टी होने के बावजूद भी इस प्रकार का नजार जिले की पीएचसी और सीएचसी सैंटरों के अलावा झज्जर के नागरिक अस्पताल में देखने को मिला। डैस कोड के रूप में सफेद कोट पहने चिकित्सकों और अस्पताल के अन्य स्टाफ ने पूरा दिन अस्पताल में सफाई अभियान चलाया। नागरिक अस्पताल के हर कमरे के हर कोने में गंदगी को खंगाल कर स्टाफ ने न सिर्फ सफाई व्यवस्था को चकाचक किया, बल्कि रिकार्ड को भी दुरूस्त किया।

ऐसा ही नजारा अस्पताल के बाहर उगे झाड़-झंखाड़ को भी हटाने के दौरान देखा गया। सफेद कोट पहने चिकित्सक अपने हाथों में झाडू लिए हुए थे और सफाई करने के साथ-साथ उगे हुए झाड़-झंखाड़ को वहां से उखाड़ कर अन्य स्थानों पर ले जा रहे थे। पूरा दिन अस्पताल के चिकित्सक और स्टाफ अस्पताल की साफ-सफाई करने में जुटे रहे।

आपको बता दें कि यह साफ-सफाई अकेले झज्जर जिले के सरकारी अस्पतालों में हीं नहीं की जा रही है, बल्कि पूरे हरियाणा में इस प्रकार का सफाई अभियान चलाया गया है। यह एक अच्छी बात भी है। कारण कि अस्पताल की गंदगी समय रहते दूर हो तो अच्छी बात है। इससे यहां आने वाले रोगियों को भी अच्छा लगेगा और गंदगी से मच्छर पनपते है, वह भी नहीं पनपगें। पूरे स्टाफ ने साफ-सफाई की है। उन्होंने पूरे स्टाफ को इस कार्य में लगाया था। सभी ने तनमयता से साफ-सफाई की है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here