गोहाना: उन्नाव कांड के खिलाफ महिलाओं ने निकाला कैंडल मार्च, महिला सुरक्षा को और बेहतर करने की रखी मांग

0
171

हरियाणा न्यूज:  उन्नाव में 23 वर्षीय युवती के गेंग रेप के बाद हत्या से चिंतित गोहाना में समता मूलक संघठन की सदस्यों ने युवती की आत्मा की शांति के लिए शहर में केंडल मार्च निकाला। इस दौरान समता मूलक संघठन की महिलाओं ने यौन हिंसा की शिकार मृतिका को इंसाफ दिए जाने की मांग के साथ साथ अपराधियों को जल्द गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा की मांग।

इसके इलावा इस मामले में प्राथिमिकता दर्ज करने में कई महीने का विलम्ब करने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ करवाई की मांग के साथ साथ समता मूलक महिला संघठन की सदस्यों ने देश में महिला सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये जाने की मांग और जस्टिस वर्मा आयोग की सिफारिशें को जल्द पूरी तरह से लागु किया जाने की मांग की।

गोहाना में केंडल मार्च निकाल रही क्षमता मूलक संघठन की सदस्यों ने कहा कि, एक साल पहले 12 दिसंबर 2018 को एक 23 वर्षीय युवती के साथ दो लड़को ने बंदूक की नोक पर गेंग रेप की घटना को अंजाम दिया था, लेकिन बार बार थाने के चक्र लगाने के बाद बावजूद पीड़िता की एफआईआऱ दर्ज नहीं की गई। लेकिन रायबरेली कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस को मजबूरन इस मामले में प्राथमिता दर्ज करनी पड़ी।

इसके बावजूद पुलिस इस मामले के अपराधियों को गिफ्तार नहीं कर सकी। दस महीने के बाद एक अपराधी ने कोर्ट में आत्म समर्पण कर दिया, लेकिन दो महीने बाद ही उसे जमानत मिल गई। 5 दिसंबर को जमानत पर छूटे अपराधी ने युवती को चाकू की नोक पर जिंदा जला दिया, जिस के अगले दिन युवती की मौत हो गई। समता

मूलक संघठन की सदस्यों का कहना है कि आज देश में आये दिन महिलाओं पर यौन शोषण जैसी घटनाएं बढ़ती जा रही है। हरियाणा में भी इस साल दस महीनो में 150 गेंग रेप सहित 1396 रेप की घटनाएं सामने आ चुकी है। जिसके चलते आज महिलाएं और छोटी बचियां अपने घरों से बहार निलने से डरती है। ऐसी स्थिति में समता मूलक ने देश में महिला सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये जाने की मांग और जस्टिस वर्मा आयोग की सिफारिशें को जल्द पूरी तरहे लागू किया जाने की मांग की।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here