महंगाई रोकने में नाकाम मोदी सरकार को एक और झटका, खुदरा महंगाई दर के आंकड़ों में हुआ इजाफा

0
155

खुदरा मंहगाई दर के आंकड़े जारी होने के बाद मोदी सरकार को बड़ा झटका लगा है। दरअसल पिछले 6 महीनों में खुदरा महंगाई दर में दो गुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है। आंकड़ों में बढ़ोतरी के अलावा खाद्य महंगाई दर में भी इजाफा हुआ है।

मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर महीने में थोक महंगाई दर 2.59 फीसदी पर पहुंच गई। नवंबर में यह 0.58 फीसदी थी। जबकि एक साल पहले यानी दिसंबर 2018 में थोक महंगाई दर का आंकड़ा 3.46 फीसदी पर था।

आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर में खाद्य पदार्थों की थोक महंगाई दर 11.05 फीसदी रही, जोकि नवंबर में 9.02 फीसदी पर थी। प्राइमरी आर्टिकल इन्फ्लेशन दिसंबर में 11.46 रही, जो ठीक एक महीने पहले 7.68 फीसदी थी। इसी के साथ ईंधन और बिजली की थोक महंगाई दर नवंबर की 7.32 फीसदी की तुलना में दिसंबर में 1.46 फीसदी रही। इस लिहाज से थोक महंगाई में कमी आई है।

थोक महंगाई के ये आंकड़े ऐसे समय में आए हैं जब खुदरा महंगाई 5 साल के उच्‍चतम स्‍तर पर है। सोमवार को जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर में खुदरा महंगाई बढ़कर 7.35 फीसद पहुंच गई।

साथ ही साथ गैर खाद्य उत्पादों के दाम चार गुना होकर 7.72 फीसदी पर पहुंच गए। नवंबर में गैर खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 1.93 फीसदी थी। आंकड़ों के अनुसार, खाद्य वस्तुओं में माह के दौरान सब्जियां सबसे अधिक 69.69 फीसदी महंगी हुई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here