निर्दलीय विधायक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, सैकड़ों समर्थकों के साथ धरने पर बैठे बलराज कुंडू

0
115

हरियाणा न्यूज: महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू के खिलाफ सिविल लाइन थाना में धोखाधड़ी के साथ विभिन्न धाराओं के तहत FIR दर्ज हुई है। उन पर आरोप लगा है कि रमेश धनखड़ नामक व्यक्ति के साथ उन्होंने करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की है। FIR दर्ज होने के बाद बलराज कुंडू अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ सिविल लाइन थाना पहुंचे और थाने के बाहर ही धरना दे दिया। उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताते हुए पूर्व सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर पर इस FIR के पीछे साजिश रचने का आरोप लगा है।

उन्होंने बताया कि जब उन्होंने मनीष ग्रोवत के करोड़ो के भ्रष्टाचार को उजागर किया है, उसके बाद से ही उन्हें फंसाने की कोशिश की जा रही है। वहीं धरने के बाद रोहतक के एसपी राहुल शर्मा मौके पर पहुंचे और उन्होंने बलराज कुंडू को सही जांच करने का आश्वासन दिया और 3 दिन में जांच पूरी करने की बात कही। जिसके बाद बलराज कुंडू अपने समर्थकों सहित वापस चले गए।

रमेश धनखड़ नामक व्यक्ति ने सिविल लाइन थाना में एक शिकायत दी थी कि उसने बलराज कुंडू के साथ मिलकर ठेकेदारी का काम किया है। जिसमें बलराज कुंडू ने फर्जी एफिडेविट पर दस्तखत कर उसके साथ करोड़ों रुपए की ठगी की है। उसी शिकायत के आधार पर सिविल लाइन थाना ने बलराज कुंडू पर धोखाधड़ी के साथ विभिन्न धाराओं के तहत FIR दर्ज कर ली। जिसके बाद कुंडू आज अपने सैकड़ों समर्थकों सहित सर्किट हाउस में इकट्ठा हुए और प्रदर्शन करते हुए सिविल लाइन थाना पहुंचे प्रदर्शन के दौरान मनीष ग्रोवर मुर्दाबाद के नारों के साथ उनके समर्थकों ने मनीष ग्रोवर पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। कुंडू ने अपने समर्थकों सहित सिविल लाइन थाना के बाहर धरना दे दिया और यह धरना लगभग 4 घंटे तक चला।

कुंडू ने कहा कि जब से उन्होंने मनीष ग्रोवर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए तभी से मेरे खिलाफ मनीष ग्रोवर साजिश रच रहे हैं और यह प्रयास किया जा रहा है कि किस तरीके से मुझे भ्रष्टाचार के मामले में फंसाया जाए। उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि ऐसा कोई भी मामला उन्होंने नहीं किया है। जिसके तहत यह FIR दर्ज की गई है। आज भी अपने समर्थकों सहित यहां गिरफ्तारी देने के लिए पहुंचे हैं और अगर वे दोषी हैं तो पुलिस उन्हें गिरफ्तार करें। साथ ही कुंडू की तरफ से भी एक शिकायत दी गई है, जिसमें उसी फर्जी एफिडेविट का आरोप रमेश धनखड़ पर लगाया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here