निर्भया गैंगरेप केस की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट में अचानक बेहोश हुईं जस्टिस भानुमति

0
213

2012 के निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड मामले की शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान जस्टिस आर. भानुमति बेहोश हो गईं। इसके बाद उन्हें तुरंत उनके चैंबर में ले जाया गया। जस्टिस भानुमति के बेहोश होने की वजह से पीठ ने मामले को स्थगित कर दिया। अब कोर्ट बाद में आदेश सुनाएगा। जस्टिस भावुमति निर्भया मामले में केंद्र द्वारा दोषियों को अलग-अलग फांसी देने के निवेदन पर सुनवाई कर रही थीं।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जस्टिस भानुमति को काफी तेज बुखार था और उन्हें अभी भी तेज बुखार है। चैंबर में डॉक्टर उनकी देखभाल कर रहे हैं। इस घटना की वजह से निर्भया के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की केंद्र और दिल्ली सरकार की विशेष अनुमति याचिका पर शुक्रवार को फैसला नहीं लिखवाया जा सका।

न्यायमूर्ति भानुमति ने केंद्र की अपील पर सुनवाई 20 मार्च तक टालने संबंधी आदेश लिखवाना शुरू ही किया था कि उनकी तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गईं। खंडपीठ में शामिल न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना ने कहा कि इस मामले में बाद में आदेश जारी किया जाएगा।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मीडिया कर्मियों को बताया कि न्यायमूर्ति भानुमति तेज ज्वर से पीड़ित थीं और इस मामले की गंभीरता के मद्देनजर वह सुनवाई के लिए आईं थी।
केंद्र सरकार ने हाई कोर्ट के उस फैसले को चुनौती दी है, जिसमें उसने कहा है कि चारों दोषियों को अलग-अलग फांसी नहीं हो सकती।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here