फिर मुश्किल में फंसे डॉ कफील खान, अब योगी सरकार ने लगाया NSA

0
65

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध में भाषण देने के आरोप में उत्तर प्रदेश के मथुरा जेल में बंद डॉक्टर कफील खान के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्यवाही की गई है। AMU में विवादित बयान देने के मामले में डॉ. कफील खान की मुंबई से गिरफ्तारी की गई थी। वह फिलहाल मथुरा जेल में हैं।

इस मुकदमे में 10 फरवरी के बाद डॉ. कफील की रिहाई की तैयारी चल रही थी। हालांकि, अब रिहाई मुश्किल हो गई है। अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरी ने शुक्रवार को समाचार एजेंसी पीटीआई को टेलीफोन पर बताया, ‘‘डॉ कफील खान के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की गई है और वह जेल में ही रहेंगे।’’

पिछले साल दिसंबर में एएमयू में सीएए के विरोध में भाषण देने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद उन्हें जमानत मिल गई थी। इस मामले में 10 फरवरी के बाद उनकी रिहाई की तैयारी थी। हालांकि, अब जिला प्रशासन ने डॉ. कफील पर रासुका के तहत मुकदमा दर्ज किया है। इसके साथ कफील को मथुरा जेल में मुकदमा प्रपत्र रिसीव कराया गया, जिसके चलते अब उनकी रिहाई नहीं होगी।

उत्तर प्रदेश एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद कफील खान ने कहा था, ‘मुझे गोरखपुर के बच्चों की मौत के मामले में क्लीन चिट दे दी गई थी। अब मुझको फिर से आरोपी बनाने की कोशिश की जा कर रही है। मैं महाराष्ट्र सरकार से अनुरोध करता हूं कि मुझे महाराष्ट्र में रहने दे। मुझको यूपी पुलिस पर भरोसा नहीं है।’

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here