देश में तेजी से पांव पसार रहा कोरोना वायरस, 42 पहुंची पॉजिटिव मरीजों की संख्या

0
89
(AP Photo)

चीन सहित दुनियाभर के 90 देशों में फैल चुका घातक कोरोना वायरस अब भारत में भी तेजी से पांव पसारना शुरू कर दिया है। न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में सोमवार को कोरोना वायरस के एक-एक नए मामले की पुष्टि हुई है, जिसके बाद भारत में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और जम्मू-कश्मीर से एक-एक नया मामला सामने आया है। साथ ही बताया कि अब तक किसी की भी मौत की खबर नहीं है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में विशेष सचिव (स्वास्थ्य) संजीव कुमार ने कहा, ‘कोरोना वायरस के अब तक 42 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं।’

3 साल के बच्चे का कोरोना टेस्ट पॉलिटिव

इटली की यात्रा कर केरल लौटे तीन वर्षीय बच्चे का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है। बच्चे को एर्नाकुलम मेडिकल कॉलेज में आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। वहीं, जम्मू-कश्मीर के करगिल में ईरान से लौटी 83 वर्षीय एक महिला का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है।

केरल में एक तीन साल के बच्चे के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उसने हाल ही में इटली की यात्रा की थी। बच्चे को फिलहाल आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि बच्चा और उसके माता पिता सात मार्च को सुबह छह बजे इटली से कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचे तो उनकी यहां स्थापित निगरानी प्रणाली में ‘थर्मल स्क्रीनिंग’ की गई। उन्होंने बताया कि बच्चे में कोरोना वायरस के लक्षण दिखे।

इसके बाद उन्हें तुरंत कलामस्सेरी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पृथक वार्ड में भेज दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि बच्चे के नमूनों को अलाप्पुझा में स्थित एनआईवी की प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा गया, जिसमें बच्चे के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि बच्चे के माता-पिता के नमूनों को भी जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है।

केरल में 5 नए मामले सामने आए

केरल में रविवार को कोरोना वायरस के पांच नए मामले सामने आए। इनमें इटली से आए तीन वो लोग भी शामिल थे जो ‘स्क्रीनिंग’ से बच निकले थे। इसके बाद सरकार ने रविवार को फिर से इस बीमारी को लेकर अलर्ट जारी किया और प्रभावित राष्ट्रों के यात्रा इतिहास छिपाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here