कोरोना का कहर: भारत में मरीजों की संख्या बढ़कर 223 हुई, दिल्ली के सभी मॉल बंद रखने का ऐलान

0
305

चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान से शुरू हुए जानलेवा कोरोना वायरस की चपेट में विश्व के 116 देश आ चुके हैं और इससे संक्रमित 10 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि अब तक करीब 244,500 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण धीरे-धीरे फैल रहा है और अब तक 223 लोगों में इसकी पुष्टि हो चुकी है, जबकि दिल्ली, कर्नाटक, पंजाब और महाराष्ट्र में चार लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत में कोरोना के 223 मामले आए सामने

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक कोरोना वायरस के कुल 223 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। पीड़ितों में 32 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। वहीं, उनके संपर्क में आने वाले 6,700 से अधिक लोग निगरानी में हैं। वहीं, अब तक कोरोना वायरस से देश में 4 मौतें हुई हैं, वे सभी 64 साल से अधिक उम्र के थे।

दिल्ली में बंद रहेंगे मॉल

कोराेना वायरस के बढ़ते प्रकोप काे देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सभी मॉलों को अगले आदेश तक बंद करने का ऐलान किया गया है। मॉलों में अब केवल ग्रॉसरी, दवाई और सब्जियों की दुकानें ही खुली रहेंगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शक्रवार को राजधानी के सभी मॉलों को बंद करने का ऐलान किया।

दिल्ली मेट्रो ‘जनता कर्फ्यू’ के दिन नहीं चलेगी

कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के संक्रमण से लड़ने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू’ के आह्वान के मद्देनजर अधिक से अधिक लोगों को घरों में रहने के लिए प्रोत्साहित करने की दिशा में दिल्ली मेट्रो ने रविवार को अपनी सेवा बंद रखने का फैसला किया है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि लोगों को घरों में रहने के लिए प्रोत्साहित करने की दिशा में मेट्रो सेवा इस दिन उपलब्ध नहीं रहेगी।

रविवार को जनता कर्फ्यू

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए कई राज्यों में पाबंदियां लगाई जाने के चलते वे बंद जैसी स्थिति की ओर बढ़ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात 8 बजे देशवासियों को संबोधित करते हुए इस संकट का मजबूती से मुकाबला करने के लिए 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक ‘‘जनता कर्फ्यू’’ का आह्वान किया। पीएम मोदी ने लोगों से अपील की कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य शख्स इस दौरान घर से बाहर नहीं निकले।

प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य व्यक्ति इस दौरान घर से बाहर नहीं निकले। उन्होंने कहा कि जनता कर्फ्यू जनता के लिए, जनता द्वारा लगाया गया कर्फ्यू है। कोरोना वायरस के असर और प्रभाव रोकने के लिए सामाजिक दूरी बहुत ही महत्वपूर्ण है।

22 मार्च से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध

इस बीच, भारत ने 22 मार्च देर रात डेढ़ बजे से सभी अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों के उतरने पर एक हफ्ते के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। नागर विमानन महानिदेशालय ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर कहा है कि 22 मार्च देर रात डेढ़ बजे के बाद किसी भी व्यावसायिक अंतरराष्ट्रीय उड़ान को भारत की धरती पर किसी भी यात्री, विदेशी या भारतीय को उतारने की अनुमति नहीं होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here