निर्भया केस: दोषियों के परिवारों ने नहीं किया शवों का दावा, तिहाड़ जेल में हो सकता है अंतिम संस्कार

0
258

निर्भया के चारों दोषियों को आज सात साल के बाद फांसी के फंदे पर लटका दिया गया है। तिहाड़ जेल में दोषियों को शुक्रवार सुबह 5:30 बजे फांसी पर लटकाया गया है। हालांकि अभी तक दोषियों के परिवारों की तरफ से शवों को लेना का कोई दावा पेश नहीं किया गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि सभी दोषियों का अंतिम संस्कार तिहाड़ जेल में ही किया जाएगा। बता दें कि जिस जेल नंबर तीन में चारों को फांसी दी गई है, वहीं चारों का अंतिम संस्कार किया जा सकता है।

इस बीच फांसी पर लटकाए जाने से पहले निर्भया के चारों दोषियों ने अपनी कोई अंतिम इच्छा जाहिर नहीं की थी। तिहाड़ जेल प्रशासन का कहना है कि दोषियों की ओर से जेल में कमाए गए पैसे को उनके परिजनों को दिया जाएगा। इसके अलावा उनके कपड़े और सभी सामान भी परिजनों को दिए जाएंगे।

वहीं, सात साल के बाद दोषियों को हुई फांसी के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि ‘मैंने बेटी की तस्वीर को गले लगाकर उससे कहा- बेटा आज आपको इंसाफ मिल गया और मुझे अपनी बेटी पर गर्व है। आज वो अगर होती हो मैं एक डॉक्टर की मां कहलाती। इसके अलावा निर्भया के पिता बद्रीनाथ ने कहा कि ”हमें इस घड़ी का सात साल से इंतजार था, हम बहुत खुश हैं। आज न्याय का दिन है और सिर्फ हमारे लिए ही नहीं पूरे देश के लिए बहुत बड़ा दिन है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here