जानें क्यों लॉकडाउन के बीच पैदल चलने को मजबूर हैं गरीब मजदूर?

0
195

हरियाणा न्यूज: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया गया था। कोरोना से निपटने के लिए पीएम मोदी ने देश की जनता से अपील करते हुए कहा था कि सिर्फ 21 दिन के लिए घरों में रहे। लेकिन पीएम के इस ऐलान के साथ ही गरीब मजदूरों के सामने बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। देश के कोने-कोने से रोजगार करने के लिए दिल्ली में रह रहे हैं लोग अब पैदल ही वापस अपने-अपने गांव के लिए निकल लिए हैं।

दिल्ली से पैदल चलते हुए करीब 40 किलोमीटर दूर फरीदाबाद पहुंचे लोगों ने बताया कि वह दिल्ली में मजदूरी करते थे। लॉकडाउन     के चलते अब सब कुछ बंद हो गया है तो उनके पास अपने और बच्चों के लिए खाना खाने तक के पैसे नहीं है। इससे पहले वह भूख से दिल्ली में ही मर जाए इसलिए वह अब पैदल ही झांसी जा रहे हैं।

दिल्ली से झांसी की दूरी सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। करीब 700 किलोमीटर ये सैकड़ों लोग दिन-रात पैदल चलते हुए लगभग 10 दिन में पहुंचेंगे। इन लोगों के साथ बच्चे, महिलाएं और बुजुर्ग भी हैं जो पूरे सामान के साथ पैदल ज्यादा सफर नहीं कर पाएंगे। लेकिन उसके बावजूद भी मजबूरन इन लोगों को अपने-अपने गांव पैदल ही जाना पड़ रहा है। क्योंकि 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन है जिसके चलते हैं बस या रेल सहित कोई भी वाहन सड़क पर नहीं चलेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here