लॉकडाउन के दौरान हो रही है सरसों की कालाबाजारी, पुलिस ने की दो गाड़ियां जब्त

0
296

हरियाणा न्यूज: कोरोना माहमारी व लॉकडाउन के चलते सरकार ने नांगल चौधरी के अलावा धोलेड़ा व निजामपुर में अस्थायी मंडी बनाई है। ताकि किसानों को अपनी अनाज बिक्री के लिए कोई परेशानी न हो। लेकिन अनाज माफिया कहे या लाला जी बाज नहीं आ रहे हैं। भारी मात्रा में राजस्थान से सस्ती खरीद कर हरियाणा में सरकार को महंगे दाम में बेच रहे हैं। बीती शाम निजामपुर पुलिस की चौकसी व सतर्कता के चलते सरसों से भरी दो पिकअप गाड़ी इंपाउंड की गई। चौकी प्रभारी देवेंद्र व हवलदार प्रदीप यादव ने FIR दर्ज कर आगामी कार्यवाही जुटी हुई है।

दोनों ही ट्रक ड्राइवर राजस्थान के रहने वाले हैं इसी के कारण दोनों का मेडिकल चैकअप करवाया गया है। बता दें कि पकड़े गए ये दोनों ट्रक करीब 40 क्विंटल सरसों से भरे हैं। दोनों ही गाड़ियों को पुलिस ने सरसों सहीत इंपाउंड कर लिया है। पुलिस द्वारा गाड़ी व माल के कागजात मांगने पर गाड़ी चालक नहीं दिखा पाए। कोई कागज फ्रंट सीसे पर लगा रखा था जिसके बाद राजस्थान प्रशासन द्वारा फल व सब्जी के लिए पास दे दिया था।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरियाणा में सरकार द्वारा हो रही सरसों खरीद में गोलमाल कर फायदा लेने के लिए सरसों के लाला कहे या माफिया राजस्थान से ला रहे हैं। सरसो क्योंकि राजस्थान में 3800 के आम भाव पर मिल रही है तो हरियाणा में 44,25 रुपये प्रति क्विंटल है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि ये खेल मंडी में लगे कुछ कर्मचारियों के साथ मिलकर खेला जा रहा है। हर दिन लाखों रुपये की कमाई के चक्कर में राजस्थान से सरसों की बिक्री हो रही है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here