लॉकडाउन में राहत की खबर: लोन की किस्‍त चुकाने से 3 महीने की अतिरिक्‍त छूट

0
32

कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण के कारण लॉकडाउन के मद्देनजर रिजर्व बैंक ने लोन की किश्त चुकाने से तीन महीने की और राहत देने की घोषणा की है। केंद्रीय बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति समिति की बैठक के लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए शनिवार को पत्रकारों से कहा कि कर्ज की किश्ते चुकाने में राहत को अगस्त तक बढ़ाने का फैसला किया गया है। पूरे देश में लॉकडाउन की अवधि 31 मई तक बढ़ाए जाने के मद्देनजर केंद्रीय बैंक ने यह निर्णय लिया है।

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि रेपो दर और रिवर्स रेपो दर में 40 आधार अंकों की कमी किए जाने के साथ ही कर्ज चुकाने में भी राहत देने की अवधि बढ़ाई गई है। पहले भी तीन महीने की मई तक की छूट दी गई थी। आरबीआई ने मार्च से लेकर मई तक सभी सावधि लोन के भुगतान पर तीन महीने की छूट दी थी। तीन और महीनों के लिए राहत मिलने से अब अगस्त तक भुगतान करना जरूरी नहीं होगा।

कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने पूंजी की उपलब्धता बढ़ाने और ब्याज दरों में कमी लाने के उद्देश्य से रिजर्व बैंक के गर्वनर शक्तिकांत दास ने नीतिगत दरों में कटौती की घोषणा की है। रिजर्व बैंक गवर्नर ने कहा कि नीतिगत रेपो दर में 0.40 प्रतिशत की कटौती की गई है, यानी रेपो रेट जो कि 4.40 फीसदी पर था वो 4 फीसदी पर आ गया है। जबकि रिवर्स रेपो रेट जो 3.75 फीसदी पर था उसमें भी 40 बेसिस पॉइंट की कटौती करते हुए इसे 3.35 फीसदी कर दिया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here