पंजाब सीएम के बयान पर बोले किसान, यह षड्यंत्र लग रहा पहले आंदोलन को उठाओ फिर

0
30

सोनीपत के कुंडली सिंघु बॉर्डर पर पिछले कई महीनों से संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। बारिश से टूटी सड़कों और अन्य समस्याओं के समाधान को लेकर किसान नेता मनजीत राय के नेतृत्व में किसानों का एक दल लघु सचिवालय में पुलिस अधीक्षक और डिप्टी कमिश्नर से मीटिंग करने पहुंचा।

किसानों ने बारिश के कारण टूट चुके रोड और लोकल लोगों की कई समस्याओं के बारे में प्रशासन से बातचीत की। बातचीत के बाद किसानों ने कहा कि उनको विश्वास है, प्रशासन समस्या का समाधान अवश्य करेगी।

पंजाब के मुख्यमंत्री के बयान पर जवाब-

वहीं पंजाब मुख्यमंत्री के बयान पर बात करते हुए किसानों ने कहा कि अब उन्हें 14 से 15 महीने बाद याद आ रहा है कि पंजाब में आर्थिक नुकसान हो रहा है।

किसानों ने आगे कहा कि किसान ना तो पंजाब टोल पर और ना ही रिलायंस के माल पर बैठा हैं, जिससे पंजाब को क्या नुकसान हो रहा है। यह एक षड्यंत्र लग रहा है पहले आंदोलन को पंजाब से उठाओ फिर हरियाणा से उठाओ और फिर बोलेंगे दिल्ली में घुसने नहीं देंगे।

मनजीत राय ने साफ तौर से कहा कि अगर कैप्टन साहब में सत्ता की ताकत है तो वह किसानों को उठाकर दिखाए। जहां जहां भी किसान धरने बैठे हुए हैं, वह तब तक नहीं उठेंगे जब तक सरकार किसानों की मांगों को पूर्ण नहीं करेगी।

किसान नेता मनजीत सिंह ने कहा कि किसानों ने यह कानून नहीं मांगे थे जो रिपोर्ट मांग रहे हैं वह जाकर देश के प्रधानमंत्री से मिले और उनको कहें कि एमएसपी और कृषि कानूनों का समाधान करें यहां किसान अपनी मर्जी से नहीं बैठे हैं ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here