14 सिंतबर को हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है, क्या है इस दिन का महत्व ?

0
31

14 सिंतबर 1953 को पहली बार भारत में हिन्दी दिवस मनाया गया था। 1949 में इसी दिन हिन्दी को राजभाषा भी घोषित किया गया था। बहुत कम लोग ही जानते है कि इस दिन को क्यों मनाया जाता है, इस दिन का महत्व क्या है।

क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस-

दुनिया में अंग्रेजी, स्पेनिश और मंदारिन के बाद सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा है हिन्दी। भारत हमेशा से विविधताओं के देश रहा है। ऐसे में 1947 में देश आजाद होने के बाद सबसे बड़ा सवाल भाषा को लेकर था। काफी सोच-विचार के बाद हिन्दी और अंग्रेजी को राष्ट्र भाषा के रुप में चुन लिया गया।

लेकिन बाद में 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी। संविधान के अनुच्छेद 343 (1) के अनुसार भारत की राजभाषा ‘हिन्दी’ और लिपि देवनागरी है।

हिंदी को राज भाषा चुनने के बाद उस समय देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु ने 14 सिंतबर को हिन्दी दिवस के रुप में मनाया। तब से लेकर आजतक 14 सिंतबर को हिन्दी दिवस मनाया जाता हैं।

हिन्दी दिवस मनाने के पीछे इस भाषा की महत्वता को बढ़ावा देने का उद्देश्य है।

इसी उद्देश्य के साथ देश में सभी सरकारी कार्यालयों को भी हिंदी का प्रयोग करने के लिए कहा जाता है। लोगों को प्रेरित करने के लिए राष्ट्रपति द्वारा लोगों को हिंदी भाषा अवॉर्ड का देते हुए सम्मानित भी किया जाता है। जिन्होंने हिंदी भाषा के किसी क्षेत्र में उपलब्धि हासिल की है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here