शहीद हरि सिंह की अंतिम सलामी पर उमड़ा जनसैलाब.. राजकीय सम्मान के साथ हुआ शहीद का अंतिम संस्कार

0
587

रेवाड़ी: पुलवामा के पिंग्लेना इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान रेवाड़ी के
जवान हरि सिंह भी शहीद हो गए। इन शहीदों में एक जवान रेवाड़ी के बावल खंड के गांव राजगढ़ का रहने वाला था। रेवाड़ी के हरि सिंह 55 राष्ट्रीय राइफल्स में जेसीओ के पद पर तैनात थे और मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से शहीद हो गए। हरि सिंह के शहीद होने की सूचना मिलते ही गांव में शोक की लहर दौड़ गई।

आपको बता दें कि हरि सिंह ने 13 नवंबर 2018 को लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद उन्हें आंतकियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए चुना गया था। उनके पिता भी सैनिक रह चुके हैं। साथ ही शहीद हरि सिंह के पिता अगड़ी सिंह भी सेना में थे। जिनका देहांत हो चुका है। शहीद हरी सिंह के घर में अब उनकी मां, पत्नी और बेटा है।

गांव के सरपंच से मिली जानकारी के मुताबिक शहीद की तीन बहनें भी हैं। जिनकी शादी हो चुकी है। पिता की मौत के बाद परिवार की पूरी जिम्मेदारी हरि सिंह के कंधों पर ही थी। बताया जा रहा है कि शहीद हरि सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के समय उमड़े जनसैलाब ने नम आंखों से दी अंतिम सलामी।शहादत को सलामी देने केंद्रीय मंत्री राव नरबीर सिंह और बनवारी लाल भी मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here